वाराणसी : विश्व शांति महायज्ञ में पहुंचे सिक्किम के राज्यपाल लक्ष्मण आचार्य, बोले, महावीर आज भी प्रासंगिक

नले

वाराणसी। जैन धर्म के 23वें तीर्थंकर भगवान प्रार्श्वनाथ की जन्मस्थली के सभागार में श्री दिगंबर जैन समाज काशी की ओर से इंद्र ध्वज विधान और विश्व शान्ति महायज्ञ का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सिक्किम के राज्यपाल लक्ष्मण आचार्य ने दीप प्रज्ज्वलन के साथ कार्यक्रम का शुभारंभ किया। मंगलाचरण महिला मंडल की प्रमिला सामरिया और उनकी टीम ने किया। कोषाध्यक्ष सौरभ जैन, सुधीर कुमार पोद्दार,पंडित अशोक जैन ने स्मृति चिह्न प्रदान कर मुख्य अतिथि को सम्मानित किया। इस अवसर पर लक्ष्मण आचार्य ने महावीर के विचारों की चर्चा की। वर्तमान समाज के लिए उनके विचारों को प्रासंगिक बताया। 

नले

उन्होंने कहा कि संपूर्ण विश्व में हथियारों की होड़, हिंसा है और जिस तरह से मनुष्य का दिल दिमाग और विकृत होता जा रहा है, भगवान महावीर और भी अधिक प्रासंगिक हो गए हैं। भगवान महावीर का संदेश जियो और जीने दो पहले भी प्रासंगिक था आज भी है और कल भी रहेगा। सच्चाई यही है कि मनुष्य जितना कम से कम परिग्रह रखेगा "संतोषम परम सुखम" सिद्धांत का पालन करते हुए और सुखी हो जाएगा। उन्होंने कहा कि जैन समाज जनसंख्या में बहुत कम है परंतु देश के रेवेन्यू व समाज सेवा में इसका स्थान अग्रिम पंक्ति में है। 

मुख्य अतिथि ने जैन समाज को देश का भामाशाह बतलाया। इस अवसर पर संस्था के नवनियुक्त  अध्यक्ष आरसी जैन, वरिष्ठ उपाध्यक्ष संजय जैन ने मुख्य अतिथि का स्वागत किया। संस्था के उपाध्यक्ष राकेश जैन ने कहा कि काशी जैन धर्म के चार तीर्थंकरों की जन्मस्थली है। इसलिए काशी को जैन सर्किट घोषित किया जाए। जैन समाज के पदाधिकारीयो ने ने एक स्वर में कहा कि अगर प्रदेश सरकार ने काशी को जैन सर्किट के रूप में घोषित किया जाता है तो काशी के पर्यटन को चार चांद लग जाएगा। साथ ही काशी में पर्यटकों की ओर से आने वाला रेवेन्यू दोगुना हो जाने की जैन समाज गारंटी देता है। 

लक्ष्मण आचार्य ने समाज की मांग को प्रदेश शासन तक पहुंचाने का आश्वासन दिया। इस अवसर पर जैन समाज के प्रधानमंत्री प्रदीप चंद जैन व समाज मंत्री विनोद जैन ने भैदेनी तीर्थ स्थल की गलियों का उद्धार करने की मांग की। विशिष्ट अतिथि ब्रह्मचारी संजय भईया ने जैन समाज के 25 पदाधिकारियों को संस्था की संविधान के अनुकूल निष्ठा और ईमानदारी से कार्य करने की शपथ दिलाई गई। सभा को राष्ट्रीय सम्मान प्राप्त पंडित फूलचंद जैन प्रेमी ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम का संचालन आकाश जैन, धन्यवाद ज्ञापन भेलूपुर जैन मंदिर के मंत्री पवन जैन और राहुल जैन ने किया।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story