अधिवक्ता ने न्याय के लिए सीएम को लिखा खून से पत्र, मुकदमे में पैरवी से साजिशन रोकने का आरोप

varanasi news
वाराणसी। बनारस कचहरी के एक अधिवक्ता ने सीएम योगी को अपने खून से पत्र लिखकर न्याय की गुहार लगाई है। अधिवक्ता दीपक सिंह राजवीर का आरोप है कि सोनभद्र में तैनात इंस्पेक्टर और उसकी पत्नी ने एक मुकदमे में पैरवी से जबरदस्ती रोकने के लिए अदालत में फर्जी प्रार्थना पत्र देकर दबाव बनाया। 

अधिवक्ता के मुताबिक, एक जमीन संबंधी विवाद मे वह अपने पक्ष के राजेंद्र राय की पैरवी कर रहे है। उनके पक्ष मे न्यायालय का आदेश भी है।  जबकि विपक्षी पंकज पांडेय के द्वारा पहले तो अधिवक्ता को खरीदने का प्रयास किया गया। जब मैं नही बिका, तो मेरे विरुद्ध सुनियोजित तरीके से फर्जी प्रार्थना पत्र देकर मुकदमा दर्ज कराने की साजिश की जा रही है।

अधिवक्ता ने कहा कि उसके खिलाफ जनपद में एक भी अभियोग नहीं दर्ज है। जबकि विपक्षी पार्टी के ओर से लगातार यूज़ दागदार साबित करने की कोशिश की जा रही। कहा कि विपक्षी पार्टी द्वारा उसे जबरन व्यक्तिगत धार्मिक और राजनीतिक मामलों में फंसाने की साजिश की जा रही है। इतना ही नहीं, दबंगों द्वारा उन्हें जान से मारने की धमकी भी दी गयी। इसे लेकर अधिवक्ता ने सीएम योगी से न्याय की गुहार लगाई है। 
 

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story