सुलतानपुर: पुलिस मुठभेड़ मे लूट के तीन आरोपित गिरफ्तार, एक घायल

सुलतानपुर: पुलिस मुठभेड़ मे लूट के तीन आरोपित गिरफ्तार, एक घायल


- पुलिस टीम को मिला 25 हजार का पुरस्कार

सुलतानपुर, 24 नवम्बर (हि.स.)। थाना-बल्दीराय पुलिस टीम व स्वाट टीम ने पुलिस मुठभेड़ में लूट के आरोपित को गिरफ्तार किया है। उसके पास से लूट के माल का शेष बचा रुपया 18170/ तथा 03 नाजायज देशी तमंचा 315 बोर व 02 खोखा व 04 जिन्दा कारतूस तथा घटना में प्रयुक्त अपाची मोटर साइकिल बिना नम्बर तथा 03 अदद मोबाइल फोन बरामद किया गया है। पुलिस अधीक्षक ने इस सहासिक कार्य के लिए पुलिस टीम को 25 हजार रुपये नगद पुरस्कार देने की घोषणा की है।

पुलिस अधीक्षक सोमेन वर्मा ने गुरुवार को बताया कि 11 नवम्बर को बीएसएनएल के रिटायर्ड कर्मी सूर्य करन पुत्र रामरतन मिश्र निवासी बालापार भखरी थाना बल्दीराय ने भागवत के लिये 50 हजार रुपये बैंक आफ बड़ौदा इसौली से निकालकर साइकिल से पारा होते हुये बल्दीराय की तरफ जा रहे थे,जिनसे रास्ते में 03 अज्ञात व्यक्ति मोटर साइकिल बिना नम्बर सवार बदमाशों ने रैकी करके रूपये लूट लिये। जबकि इनके द्वारा बदमाशों से कहा गया कि यह पैसा भागवत हेतु है, इसे न लो। तब भी दो बदमाशों ने तमंचा लगाकर लूटपाट की घटना को अंजाम दिया। पीड़ित की सूचना पर थाना बल्दीराय मे मुकदमा पंजीकृत किया गया था।

थाना बल्दीराय पुलिस टीम व स्वाट टीम ने बीती रात नरसिंह प्राथमिक विद्यालय के पास नहर रोड पर आरोपित रामनयन पुत्र स्व. मनभावन सिंह नि0 गनेशपुर थाना बाबा बाजार जनपद अयोध्या,राजा उर्फ अनूप सिंह पुत्र नारेन्द्र प्रताप सिंह निवासी ग्राम नरहरपुर चौकिया थाना लम्भुआ,विकास पुत्र खुशीराम निवासी अढ़नपुर थाना मुसाफिरखाना अमेठी द्वारा पुलिस बल पर जान से मारने की नीयत से फायर किया गया। जवाबी कार्यवाही में आरोपित रामनयन एवं राजा उर्फ अनूप सिंह के पैर में गोली लगी, जिन्हें जीवनरक्षार्थ चिकित्सा हेतु अस्पताल भेजा गया है।

पुलिस की पूछताछ में रामनयन जनपद अयोध्या का मूल निवासी है एवं लूट सम्बन्धित इसके ऊपर आधा दर्जन मामले दर्ज हैं। यह हिमाचल प्रदेश में एक ढ़ाबा वाले से 8.5 लाख रूपये लूट के मामले में भी सजा काट चुका है।

दूसरे अभियुक्त अनूप सिंह के बारे में पता चला कि इसके ऊपर भी लूट समेत कई आपराधिक मुकदमें दर्ज हैं। यह थाना लम्भुआ से रेप की घटना में जेल गया था। बाद में जेल से बाहर आया और उसी केस के वादी को जान से मारने की नीयत से गोली मारा था। वर्तमान में यह जमानत पर मुम्बई में रहता है और घटना से कुछ दिन पहले ही कोर्ट में पेशी के लिए वापस आया है।

तीसरे आरोपित विकास के कथनानुसार, यह उसके लूट का पहला अपराध था।

हिन्दुस्थान समाचार/दयाशंकर

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story