काशी के वह ब्राह्मण, जिन्होंने पीएम के नामांकन का निकाला मुहूर्त, फिर बने प्रस्तावक, रामलला से है कनेक्शन

ganeshwar Shastri
वाराणसी। वाराणसी लोकसभा सीट से नरेन्द्र मोदी ने तीसरी बार अपना नामांकन दाखिल किया। पीएम ने इससे पहले काशी पुराधिपति काशी विश्वनाथ, बाबा कालभैरव व मां गंगा का आशीर्वाद लिया। पीएम कालभैरव दरबार से सीधा कलेक्ट्रेट परिसर पहुंचे, जहां उन्होंने अपना नामांकन दाखिल किया। 

पीएम के साथ सीएम योगी व चार प्रस्तावक मौजूद रहे। पीएम ने जब अपना नामांकन दाखिल किया, उनके बगल में प्रस्तावक आचार्य गणेश्वर शास्त्री मौजूद रहे। गणेश्वर शास्त्री ने पीएम मोदी ने नामांकन के दौरान कुछ देर बातचीत भी की, जिसके बाद वह चर्चा में आ गए हैं। 

गणेश्वर शास्त्री ने इससे पहले राम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा का मुहूर्त निकाला था। बताया जा रहा है कि मोदी के नामांकन का मुहूर्त भी पंडित गणेश्वर शास्त्री ने ही निकाला था। इसके अलावा राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन का शुभ मुहूर्त भी उन्हीं के द्वारा निकाला गया था। 

Ramlala

ग्रह नक्षत्र के बड़े जानकार आचार्य गणेश्वर शास्त्री

जगदगुरु रामानंदाचार्य पुरस्कार से सम्मानित गणेश्वर शास्त्री ज्योतिष की दुनिया के सबसे विश्वसनीय चेहरे हैं। उनका पूरा परिवार काफी लंबे समय से काशी में रह रहा है। बताया जा रहा है कि गणेश्वर शास्त्री द्रविड़ मूल रूप से दक्षिण भारत के रहने वाले हैं। काशी के रामघाट इलाके में गंगा किनारे उनके साथ उनके भाई पंडित विश्वेश्वर शास्त्री भी रहते हैं। वह भी उन्हीं की तरह विद्वान हैं। गणेश्वर शास्त्री  ग्रह, नक्षत्र, चौघडियों के सबसे बड़े जानकारों में से एक हैं। गणेश्वर शास्त्री को बड़े-बड़े मुहूर्तों के धर्मसंकट से निकालने में महारथ हासिल है। गणेश्वेर शास्त्रीस एक विद्यालय चलाते हैं, यहां वह बच्चों को आचार्य बनने और कर्मकांड की पढ़ाई करवाते हैं।

पद्मभूषण से हो चुके हैं सम्मानित

आचार्य गणेश्वर शास्त्री का जन्म काशी के रामनगर में 9 दिसम्बर 1958 को हुआ था। वह रामघाट स्थित सांग्वेद विद्यालय को चलाते हैं। आचार्य शास्त्री के पिता राजराजेश्वर शास्त्री द्रविड़ को पंडितराज की उपाधि मिली हुई थी। भारत सरकार की ओर से उन्हें देश के प्रमुख नागरिक सम्मान पद्मभूषण से भी सम्मानित किया था। आचार्य गणेश्वर शास्त्री नंगे पांव रहकर यम- नियम का पालन करते हुए ऋर्षियों के समान जीवन व्यतीत करते हैं। कपड़ों के नाम पर वे केवल एक धोती पहनते हैं।

ganeshwar shastri

पुष्य नक्षत्र में मोदी ने दाखिल किया नामांकन

प्रधानमंत्री मोदी ने गंगा सप्तमी के साथ ही पुष्य नक्षत्र में नामांकन पत्र दाखिल किया है। पीएम मोदी के नामांकन को लेकर लोगों में काफी उत्साह देखने को मिला। तेज धूप के बीच भी लोग कलेक्ट्रेट पहुंचे। साथ ही नामांकन में शामिल होने के लिए कई बड़े नेता कलेक्ट्रेट पहुंचे थे। उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने प्रधानमंत्री मोदी के नामांकन पर कहा कि पीएम मोदी का भव्य रोड शो पूरे काशी, उत्तर प्रदेश व देश को उत्साहित करने वाला था। प्रधानमंत्री मोदी का मिशन जरूर सफल होगा, वह एक पृथ्वी और एक भविष्य की बात करते हैं।
 

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story