अधिक मुनाफा कमाने के नाम पर युवक से सात बार में एक लाख की ठगी, साइबर पुलिस ने शातिर वकील को देहरादून से दबोचा

cyber fraud
WhatsApp Channel Join Now
-    दो साथी पहले ही जेल में काट रहे सजा

-    एक साल से पुलिस कर रही थी तलाश
-    देहरादून कोर्ट में करता था वकालत 
-    एक्स्ट्रा इनकम के लिए चलाया ज्यादा दिमाग

वाराणसी। वाराणसी कमिश्नरेट के साइबर थाने की पुलिस ने एक साइबर अपराधी को देहरादून से गिरफ्तार किया है। पुलिस उसकी एक साल से तलाश कर रही थी। उसने चौबेपुर क्षेत्र के एक व्यक्ति से 1 लाख रुपए से ज्यादा की ठगी की थी। उसके खिलाफ कोर्ट के आदेश पर पहले ही कुर्की की कार्यवाही की जा चुकी है। 

गिरफ्तार अभियुक्त अंकित भारद्वाज मूल रूप से उत्तर प्रदेश के बिजनौर का रहने वाला है। वह वर्तमान में उत्तराखंड के देहरादून में किराये का कमरा लेकर रहता था। वह वहां पर वकालत भी करता था। साथ ही एक्स्ट्रा इनकम के लिए लोगों को फांसने का काम भी करता था। 

उसके खिलाफ चौबेपुर थाना क्षेत्र के रहने शिवदशा गांव के रहने वाले वंश नारायण सिंह ने मुकदमा दर्ज कराया था। जिसमें उन्होंने बताया था कि उनके बेटे अवनीश कुमार सिंह को व्हाट्सएप्प ग्रुप में नायका फैशन नाम से एक मेसेज आया, जिसमें बताया गया कि यदि कोई प्रोडक्ट खरीदते हैं, तो अच्छा लाभ मिलेगा। युवक ने लालच में कई पार्ट में छोटी-छोटी धनराशि इन्वेस्ट की। जिसका उसे लाभ भी मिला। 

पत्नी व स्वयं के नाम पर खुलवाया जॉइंट अकाउंट

इसी आधार पर अवनीश ने उस मेसेज पर व कथित कंपनी पर विश्वास करके सात बार कुल 1 लाख 13 हजार 650 रुपए इन्वेस्ट किए। इसके बाद न कम्पनी का कुछ पता चला, और न ही रुपयों का। सारा पैसा साइबर अपराधी ने जब्त कर लिया। साइबर पुलिस ने जब इसकी जांच की तो पता चला कि उसने SAB Security नाम से ICICI बैंक में करंट अकाउंट खोला है, SAB यानी Sakshi Ankit Bhardwaj। इसके साथ ही पुलिस को जानकारी हुई कि अभियुक्त देहरादून जिला न्यायालय में अधिवक्ता का कार्य करता है। इसके बाद पुलिस ने उसकी पूरी कुंडली निकाल ली। आरोपी के दो साथियों संजय राय व मो० नईम को पहले ही गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है। 

ससुराल से गिरफ्तार कर पुलिस ले आई बनारस

वाराणसी साइबर पुलिस ने टीम गठित कर देहरादून पुलिस की मदद से 9 जुलाई को आरोपी को उसके ससुराल देहरादून से गिरफ्तार किया। इसके बाद उसे देहरादून कोर्ट में पेश कर ट्रांजिट रिमांड पर लाकर वाराणसी कोर्ट के आदेश पर जेल भेज दिया गया। 

आरोपी की गिरफ़्तारी करने वाली टीम में साइबर क्राइम थाने की पुलिस टीम से इंस्पेक्टर विजय नारायण मिश्र, हेड कांस्टेबल प्रभात कुमार द्विवेदी, कांस्टेबल चंद्रशेखर यादव, कांस्टेबल दिलीप कुमार एवं सहयोगी टीम से एसपी देहरादून, देहरादून सिटी एसपी देहरादून एसओजी टीम व वाराणसी कमिश्नरेट की सर्विलांस टीम शामिल रही। 

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story