सीएचसी चोलापुर व आयुष्मान आरोग्य मंदिर करधना प्रथम हुए एनक्वास सर्टिफाइड, मानकों को पूरा कर पाया मुकाम 

नले

वाराणसी। जनपद का मिनी जिला चिकित्सालय कहे जाने वाले सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चोलापुर और सेवापुरी ब्लॉक के आयुष्मान भारत आयुष्मान आरोग्य मंदिर करधना प्रथम को नेशनल क्वालिटी एश्योरेंस स्टैंडर्ड (एनक्वास) का दर्जा प्राप्त हुआ है। भारत सरकार के निर्धारित सभी स्वास्थ्य मानकों को पूरा कर सीएचसी चोलापुर ने 82.7 प्रतिशत और आयुष्मान आरोग्य मंदिर करधना प्रथम ने 88 प्रतिशत अंक प्राप्त किए हैं। इस उपलब्धि से वाराणसी में सीएचसी स्तर का पहला सीएचसी चोलापुर और करधना प्रथम, दूसरा आयुष्मान आरोग्य मंदिर बन गया है। इसे ‘एनक्वास’ सर्टिफ़ाइड होने का दर्जा प्राप्त हुआ है।

नले
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ संदीप चौधरी ने कहा कि यह जिले में चिकित्सा व स्वास्थ्य क्षेत्र के लिए बहुत बड़ी उपलब्धि है। इससे पहले वाराणसी के राजकीय चिकित्सालयों और प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों को एनक्वास मिल चुका है, लेकिन जनपद के किसी भी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र को यह उपलब्धि पहली और आयुष्मान आरोग्य मंदिर को दूसरी बार हासिल हुई है। सीएमओ ने सीएचसी चोलापुर के अधीक्षक डॉ आरबी यादव समेत समस्त अधिकारी व स्वास्थ्यकर्मियों एवं करधना प्रथम आयुष्मान आरोग्य मंदिर की सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी (सीएचओ) अंजनी भारती, सुधा, एएनएम, समस्त आशा कार्यकर्ताओं और ग्राम प्रधान निसार अहमद को बधाई दी। इस कार्य में चिकित्साधिकारी डॉ. यतीश भुवन पाठक, जिला कार्यक्रम प्रबन्धक संतोष कुमार सिंह, क्वालिटी एश्योरेंस मंडलीय सलाहकार डॉ. तनवीर सिद्दकी, स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी शिखा श्रीवास्तव, प्रभारी चिकित्साधिकारी सेवापुरी डॉ मनोज वर्मा, बीपीएम अनूप कुमार मिश्रा, बीसीपीएम सीमा यादव एवं अन्य संबन्धित सहयोगी स्टाफ ने महत्वपूर्ण योगदान दिया। इसमें सहयोगी संस्था न्यूट्रीशन इंटरनेशनल, यूपीटीएसयू एवं जपाईगो के जनपद प्रतिनिधियों ने भी अहम भूमिका निभाई। 


सीएमओ ने कहा कि सीएचसी चोलापुर और आयुष्मान आरोग्य मंदिर करधना प्रथम, अब जनपद के लिए मॉडल केंद्र बन गए हैं। चिकित्सकों, स्टाफ नर्स समेत सीएचओ, एएनएम, आशा कार्यकर्ताओं को भारत सरकार के निर्धारित सभी मानकों के लिए बेहतर तरीके से प्रशिक्षित किया गया था, जिससे वह उन मानकों को पूरा कर सकें। उन्होंने किशोरी के परामर्श से लेकर गर्भावस्था, प्रसव पूर्व जांच व देखभाल, प्रसव पश्चात देखभाल, नवजात शिशु देखभाल, सम्पूर्ण टीकाकारण, परिवार नियोजन की स्थायी व अस्थायी सेवाएँ, संचारी व गैर संचारी रोगों की स्क्रीनिंग, जांच, परामर्श आदि के साथ ही जागरूकता पर पूरा ध्यान दिया। 

अधीक्षक डॉ आरबी यादव ने बताया कि सीएचसी चोलापुर ने भारत सरकार की ओर से निर्धारित मानकों क्रमशः दुर्घटना एवं आपातकालीन, ओपीडी, आईपीडी, लैब, फार्मेसी, सहायक सेवाएं, जनरल एडमिनिस्ट्रेशन एवं ब्लड स्टोरेज यूनिट में 82.7 प्रतिशत अंक प्राप्त किए हैं। मंडलीय सलाहकार डॉ तनवीर सिद्दकी ने बताया कि आयुष्मान आरोग्य मंदिर करधना प्रथम ने केयर इन प्रेग्नेंसी एंड चाइल्ड बर्थ, निओनेटल एंड इंफेंट हेल्थ सर्विसेज़, चाइल्डहुड एंड एडोलसेंट हेल्थ सर्विसेज़, फैमिली प्लानिंग, मैनेजमेंट ऑफ कम्यूनिकेबल डीजीज़, मैनेजमेंट ऑफ सिम्पल इलनेस इनक्लूडिंग माइनर एलीमेंट्स एवं मैनेजमेंट ऑफ नॉन कम्यूनिकेबल डीसीज़ पर बेहतर स्कोर प्राप्त हुए हैं।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story