सीएम योगी के प्रयास से श्री काशी विश्वनाथ धाम में जन सुविधाओं का हो रहा विस्तार 

gfg

- प्रधानमंत्री की महत्वाकांक्षी परियोजना श्री काशी विश्वनाथ धाम में बने भवन अब धीरे-धीरे हो रहे गुलजार

- 33 भवनों एवं अन्य उपयोगी भवनों, मार्गों और स्थलों में से 14 में गतिविधियां हुईं शुरू 

वाराणसी, 22 नवंबर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्वाकांक्षी योजना श्रीकाशी विश्वनाथ धाम के विस्तारित स्वरूप के साथ सीएम की देख-रेख में जन सुविधाओं का भी विस्तार हुआ है, जिससे धाम में आने वाले श्रद्धालुओं को सभी तरह की सुविधाएं मिल रही हैं। विश्वनाथ धाम में मुमुक्षु भवन, वैदिक केंद्र, सामाजिक धार्मिक कार्य स्थल, भोगशाला, गेस्ट हाउस, म्यूजियम जलपान केंद्र समेत कई सुविधाएं विकसित की गई हैं। भवनों के संचालन से बहुत सी सुविधाएं शुरू हो गई हैं शेष को जल्द शुरू करने की कवायद तेजी से चल रही है।
14 भवन समेत अन्य जन उपयोगी स्थलों में गतिविधियां शुरू 
प्रधानमंत्री के ड्रीम प्रोजेक्ट श्रीकाशी विश्वनाथ धाम में बने भवन अब धीरे धीरे गुलजार होने लगे हैं। श्रीकाशी विश्वनाथ धाम के मुख्य कार्यपालक अधिकारी सुनील वर्मा ने बताया कि 33 भवनों एवं अन्य उपयोगी भवनों, मार्गों और स्थलों में से 14 भवनों व अन्य जन उपयोगी स्थलों में गतिविधियां शुरू हो गई हैं जबकि शेष भवनों को भी जल्दी क्रियाशील कर दिया जाएगा। सीएम योगी की निगरानी में विस्तार लिए विश्वनाथ धाम में अत्याधुनिक सुविधा युक्त भवनों का निर्माण हुआ है। मोक्ष की कामना से लेकर, सुरक्षा, खान पान, धार्मिक व सामाजिक आयोजन, यात्री सुविधा केंद्र, वाराणसी गैलरी, भोगशाला जैसे कई भवन श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए बनाए गए हैं। मालूम हो कि श्री काशी विश्वनाथ मंदिर परिसर लगभग तीन हज़ार वर्ग फुट से  विस्तार लेकर लगभग 5 लाख वर्ग फुट के विशाल क्षेत्र में परिवर्तित हो चुका है। 
यह हैं क्रियाशील भवन एवं अन्य जन उपयोगी स्थल
मुमुक्षु भवन मोक्ष की मनोकामना के लिए आने वालों के लिए, अन्नपूर्णा भवन ,बाबा के प्रसाद के लिए, पिनाक व नीलकंठ पवेलियन सुरक्षा और प्रशासनिक व्यवस्था के लिए, विश्वनाथ द्वार (गोदौलिया गेट), शक्ति भवन, (यूटिलिटी भवन) शौचालय, गंगा दर्शनम (गंगा व्यूइंग गैलरी), ललिता घाट (ललिता पथ) जलसेन पथ (रैंप बिल्डिंग) केदार भवन, ओंकारेश्वर भवन, (यात्री सुविधा केंद्र &2) शुरू हो चुका है। इसके साथ ही शंकराचार्य चौक (मंदिर चौक) व भैरवनाथ द्वार (गंगा प्रवेश द्वार) का काम भी पूरा हो चुका है। 

ज़ल्द शुरू होने वाले भवन अवं अन्य जनउपयोगी स्थल
टूरिस्ट फैसिलिटेशन सेंटर- महाकालेश्वर भवन, अमृत भवन (जलपान केंद्र), मानसरोवर (कैफे बिल्डिंग) गंगा दर्शनम, (व्यइंग गैलरी) एम्पोरियम , रामेश्वर भवन (सिटी म्यूजियम), सोमनाथ भवन (वाराणसी गैलरी), घृष्णेश्वर भवन (स्पिरिचुअल बुक स्टोर), व्यास भवन (वैदिक केंद्र ) भीमाशंकर अतिथि गृह (गेस्ट हाउस) त्र्यंबकेश्वर भवन (मल्टीपर्पज हॉल ) कार्तिकेय वाटिका (गोयनका छात्रावास) अमरनाथ संकुल (ब्लॉक 2) महाकालेश्वर भवन (टीएफसी) पशुपति शंकुल (वैदिक शाप) कार्तिकेय संकुल (ब्लॉक 4) मल्लिकार्जुन भवन, (यात्री सुविधा केंद्र ), कैलाश शंकुल शॉप -2 अमरनाथ शंकुल ब्लॉक -2

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story