वाराणसी : अब मिलावटी दूध बेचनेवालों की आई शामत, दूध सट्टियों में खाद्य विभाग की छापेमारी, बाल्टावालों की होने लगी जांच

dudh janch

वाराणसी। योगी बाबा की सरकार में अब मिलावटी दूध बेचनेवालों की खैर नही है। खाद्य विभाग की टीम ने दुग्ध उत्पादों की गुणवत्ता सुनिश्चित कराने के लिए दूध मंडियों में छापेमारी शुरू कर दी है। इसके अलावा रास्ते में साइकिल से बाल्टा लेकर चलनेवालों की चेकिंग की जा रही है। पिछले तीन दिन से चल रहे इस अभियान के तहत अबतक 62 स्थानों का निरीक्षण किया गया। 32 स्थानों पर छापेमारी की गई और दूध, दही, पनीर, छेना, खोया आदि के 41 नमूने जांच के लिए प्रयोगशाला में भेजे गए। छापेमारी की इस कार्रवाई से मिलावटी दूध और दूध से बने खाद्य पदार्थ बेचनेवालों में खलबली मची है।

आयुक्त खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन लखनऊ और जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा के निर्देश पर छापेमारी की कार्रवाई की जा रही है। यह अभियान आगे भी जारी रहेगा। पिछले बुधवार से शुक्रवार तक अभियान के तहत पैगम्बरपुर दूध सट्टी, लंका दूध सट्टी, पांडेयपुर दूध सट्टी, इंग्लिशिया लाईन दूध  सट्टी, गोदौलिया दूध सट्टी, भोजूबीर दूध सट्टी, राजातालाब दूध सट्टी, लंका, कपसेठी, कोरौता, सिगरा, बड़ागांव, कालिकाधाम, जन्सा आदि स्थानों पर छापेमारी की गई।

छापामार कार्यवाही में खाद्य सुरक्षा अधिकारी गोविंद यादव, रमेश सिंह, योगेश कुमार राय, सीताराम सिंह कुशवाहा, अवनीश कुमार सिंह, मानवेन्द्र कुमार सिंह, राकेश, श्रीमती रीता, रजनीश कुमार, सरोज कुमार, सम्राट श्रीवास्तव, विजय बहादुर, राजकुमार यादव, सुरेन्द्र प्रताप नारायण सिंह, महातिम यादव, अभिहित अधिकारी, खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन संजय प्रताप सिंह रहे।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story