वाराणसी : दुष्कर्म के मामले में इटावा का मुस्लिम धर्मगुरू दोषी करार, बनारस की कोर्ट में फैसला कल
 

court

वाराणसी। जैतपुरा थाना क्षेत्र की लड़की से दुष्कर्म के मामले में वाराणसी के फास्ट ट्रैक कोर्ट ने आरोपित मुस्लिम धर्मगुरू मोहम्मद जरसीज को दोषी करार दिया है। इस मामले में पीड़िता के वकील व पूर्व एडीजीसी अवधेश कुमार सिंह व गौतम कुमार सिंह ने बताया कि अब इस मामले में अदालत गुरूवार को सजा सुनाएगी। उन्होंने बताया कि मुस्लिम लड़की को शादी का झांसा देकर दुष्कर्म का आरोपित धर्मगुरू मो. जरसीज इटावा का रहनेवाला है।

युवती के रिपोर्ट दर्ज कराने के बाद उसने 13 जनवरी को कोर्ट में आत्मसमर्पण कर दिया था। इसके बाद पुलिस ने उसे 13 जनवरी को जेल भेजा था। धर्मगुरू ने हाईकोर्ट में भी अंतरित जमानत के लिए अर्जी दी थी। जैतपुरा थाना क्षेत्र की पीड़िता ने बीते वर्ष जनवरी में आरोप लगाते हुए प्राथमिकी दर्ज कराई थी। आरोप था कि मुस्लिम समुदाय में धार्मिक तकरीर करने वाले कोतवाली इटावा निवासी मौलाना जरजिस को वह दो साल से जानती थी। उनसे धार्मिक विषयों पर बातें भी होती थी। इसके बाद धर्मगुरू ने कैंट स्थित एक होटल में बुलाकर उसके साथ जबरदस्ती दुष्कर्म किया। शोर करने पर बदनाम करने की धमकी देने लगा और 50 मिनट का अश्लील वीडियो बना लिया। इसके बाद महीने-महीने पर आते रहे और फिर शादी का झांसा देकर अलग-अलग होटल में दुष्कर्म करते रहे।

मौलाना की आखिरी मुलाकात पीड़िता से 30 मार्च 2015 को हुई थी। इसी बीच एसएसपी को आवेदन देकर पीड़िता ने गुहार लगाई कि मौलाना मुकदमा नहीं उठाने पर अपहरण कर हत्या की धमकी दे रहा है। इस डर से पैतृक मकान छोड़कर अन्यत्र जाने और कोर्ट में गवाही देने की बात कही। पीड़िता ने कलमबंद बयान में भी दुष्कर्म  की पुष्टि की। इस बीच आरोपी मौलाना ने कोर्ट में समर्पण कर दिया। 
 

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story