दो पर्व एक साथ तो काशी की फूल मंडियां हुईं गुलजार, वसंती व पीले फूलों की बढ़ी मांग

ful mandi

रिपोर्टर- राजेश अग्रहरि

वाराणसी। वसंत पंचमी और गणतंत्र दिवस दोनों ही पर्वों पर फूलों की मांग बढ़ जाती है। हालांकि हर साल दोनों पर्व अलग-अलग तिथियों पर पड़ते थे लेकिन इस बार एक साल दो पर्वों ने बनारस की फूल मंडियों की हलचल बढ़ा दी है। गुलाब, जूही, चम्पा, चमेली और गेंदे के फूलों की खुशबू मंडियों में बिखरी हुई हैं।

ful mandi

दोनों पर्वों के लिए खरीदारी के लिए मलदहिया, बांसफाटक और चौकाघाट फूल मंडियां गुलजार हैं। बुधवार की सुबह से ही ग्राहक उमड़ने लगे। मोल भाव के साथ खरीदारी का दौर रात तक चलता रहा। हालांकि किसी भी पर्व पर पुष्प अपिर्त और स्वागत या सजावट करने के लिए ताजे फूलों की मांग अधिक होती है। इसलिए गुरूवार की भोर से यह मंडियां फिर तरह-तरह के फूलों की खूशबू से भर उठेंगी।

मलदहिया फूलमंडी के अध्यक्ष उदय प्रताप मौर्य ने बताया कि यहां इस समय हर चीज दाम बढ़ा है। वसंती व पीले रंग के फूलों की मांग अधिक है। इस बार खेतों में फूलों की पैदावार भी अधिक हुई है। दो पर्व एक साथ हो जाने के कारण मांग बढ़ गई है और हर माला पर दो चार रूपये रेट अधिक है। फूल मंडी के प्रबंधक विशाल दुबे ने बताया कि पीले फूलों की खपत ज्यादा हैं। इस मंडी से बनारस के अलावा चंदौली, भदोही, गाजीपुर, सोनभद्र से दुकानदार मालाएं खरीदने आ रहे हैं। 

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story