हॉकी इंडिया के समर्थन के कारण, मैं अपने परिवार की मदद करने में सक्षम हूं: सलीमा टेटे

हॉकी इंडिया के समर्थन के कारण, मैं अपने परिवार की मदद करने में सक्षम हूं: सलीमा टेटे
हॉकी इंडिया के समर्थन के कारण, मैं अपने परिवार की मदद करने में सक्षम हूं: सलीमा टेटे


हॉकी इंडिया के समर्थन के कारण, मैं अपने परिवार की मदद करने में सक्षम हूं: सलीमा टेटे


नई दिल्ली, 4 अप्रैल (हि.स.)। भारतीय महिला हॉकी टीम की मिडफील्डर सलीमा टेटे ने रविवार को यहां राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित हॉकी इंडिया के 6वें वार्षिक पुरस्कार 2023 में महिला वर्ग में प्रतिष्ठित हॉकी इंडिया बलबीर सिंह सीनियर प्लेयर ऑफ द ईयर 2023 का पुरस्कार जीता।

सलीमा को पूरे साल उनके लगातार अच्छे प्रदर्शन के लिए पुरस्कृत किया गया। 23 वर्षीय खिलाड़ी भारत की कांस्य पदक विजेता एशियाई खेल हांग्जो 2022 टीम का भी हिस्सा थीं और उन्होंने टूर्नामेंट में 1 गोल किया था। सलीमा ने झारखंड महिला एशियाई चैंपियंस ट्रॉफी रांची 2023 में भी 5 गोल किए, जिससे भारत को ट्रॉफी जीतने में मदद मिली, और उन्हें प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट भी चुना गया।

झारखंड के सिमडेगा जिले की रहने वाली सलीमा ने पुरस्कार जीतने पर खुशी व्यक्त की और कहा, मेरे करियर में पहली बार इतने बड़े पुरस्कार से सम्मानित होना बहुत अच्छा लग रहा है। यह एक बड़ा सम्मान है और मेरे पूरे करियर के दौरान मेरे लिए यह एक बड़ी प्रेरणा होगी।

सलीमा ने गुरुवार को हॉकी इंडिया के हवाले से कहा, पुरस्कार ने मेरे अंदर और भी बेहतर प्रदर्शन करने की इच्छा पैदा की है। मेरी योजना प्रशिक्षण शिविर में एक मिनट भी न चूकने और हर सत्र में अपना 100 प्रतिशत देने की है। मुझे पता है कि मैंने पुरस्कार जीता है, लेकिन यह भी है अब मेरे लिए यह जिम्मेदारी है कि मैं इस सम्मान पर खरा उतरूं और आगे भी बढ़ूं और सुधार करूं।''

सलीमा ने 2016 में मेलबर्न में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच में भारतीय सीनियर महिला हॉकी टीम के लिए पदार्पण किया, लेकिन फिर उन्हें टीम की नियमित सदस्य बनने के लिए तीन साल तक इंतजार करना पड़ा। सीनियर टीम के लिए अब तक 107 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने वाली सलीमा ने अपने करियर में 15 गोल किए हैं।

वह उस भारतीय महिला हॉकी टीम का हिस्सा थीं जिसने टोक्यो ओलंपिक 2020 में ऐतिहासिक चौथा स्थान हासिल किया और उन्होंने राष्ट्रमंडल खेल 2022 में अपनी टीम को कांस्य पदक जीतने में भी मदद की। वह उद्घाटन एफआईएच हॉकी महिला राष्ट्र कप स्पेन 2022 में स्वर्ण पदक जीतने वाली टीम की एक प्रमुख खिलाड़ी भी थीं, उन्होंने उस टूर्नामेंट के 5 मैचों में भारत के लिए 5 गोल किये थे।

पुरस्कार के साथ-साथ सलीमा को 25 लाख रुपये का चेक भी प्रदान किया गया। मिडफील्डर ने इस कदम के लिए हॉकी इंडिया का आभार व्यक्त किया और बताया कि कैसे पुरस्कार से उनके परिवार को मदद मिलेगी।

सलीमा ने कहा, जब मेरे परिवार ने सुना कि मुझे पुरस्कार प्रदान किया गया है, तो उन्हें भी मुझ पर गर्व हुआ। सम्मान के हिस्से के रूप में, हमें नकद प्रोत्साहन भी मिलता है, जो मेरे लिए बहुत बड़ी बात है। जब मैं यह पैसा जीतती हूं, तो मेरा परिवार भी मेरे साथ जीतता है। मैं ऐसे प्रावधान करने के लिए हॉकी इंडिया का आभार व्यक्त करती हूं और उनके समर्थन के कारण, मैं अपने परिवार के सदस्यों को हमारे दैनिक जीवन में मदद करने में सक्षम हूं।''

सलीमा ने आगे कहा कि ये पुरस्कार युवाओं को बेहतर प्रदर्शन करने के लिए प्रेरित करते हैं और नई पीढ़ी को हॉकी के खेल को अपनाने के लिए प्रोत्साहित करते हैं।

उन्होंने कहा, जब युवा देखते हैं कि खिलाड़ियों को उनके प्रदर्शन के लिए पहचान मिल रही है, तो वे भी बेहतर प्रदर्शन करने के लिए प्रेरित होते हैं। खिलाड़ियों को एहसास होता है कि राष्ट्रीय संस्था वास्तव में हमारा समर्थन कर रही है और इससे युवा पीढ़ी भी प्रेरित होती है। जब वे हॉकी इंडिया द्वारा प्रदान किए जा रहे समर्थन के स्तर को देखते हैं तो हॉकी को एक खेल के रूप में चुनते हैं और वे समान लक्ष्यों की दिशा में काम करने का प्रयास भी करते हैं।''

हिन्दुस्थान समाचार/ सुनील

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story