दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ हार के बाद बांग्लादेश के कप्तान शान्तो ने कहा-यह मैच हमें जीतना चाहिए था

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ हार के बाद बांग्लादेश के कप्तान शान्तो ने कहा-यह मैच हमें जीतना चाहिए था
दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ हार के बाद बांग्लादेश के कप्तान शान्तो ने कहा-यह मैच हमें जीतना चाहिए था


दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ हार के बाद बांग्लादेश के कप्तान शान्तो ने कहा-यह मैच हमें जीतना चाहिए था


न्यूयॉर्क, 11 जून (हि.स.)। बांग्लादेश के कप्तान नजमुल हुसैन शान्तो ने कहा कि उनकी टीम दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मैच जीतने के लिए आश्वस्त थी क्योंकि बल्लेबाज जाकेर अली क्रीज पर थे, हालांकि मैच के आखिरी ओवर में चीजें योजना के अनुसार नहीं हुईं, जब उन्हें 6 गेंदों पर 11 रन चाहिए थे।

टी-20 विश्व कप में सोमवार (स्थानीय समयानुसार) को नासाऊ काउंटी इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में खेले गए मैच में दक्षिण अफ्रीका ने बांग्लादेश को अंतिम गेंद पर हराकर सुपर 8 चरण के लिए क्वालीफाई करने की दिशा में एक कदम और आगे बढ़ा दिया। शांतो को लगता है कि उनकी टीम को यह मैच जीतना चाहिए था, लेकिन उन्होंने कहा कि दक्षिण अफ्रीका ने आखिरी कुछ ओवरों में अच्छी गेंदबाजी की।

शांतो ने मैच के बाद कहा, हर कोई घबराया हुआ था, लेकिन जब जाकेर वहां था, तो सभी आश्वस्त थे। ऐसा नहीं हुआ, लेकिन कोई बात नहीं। तनजीद ने पिछले कुछ मैचों में वास्तव में कड़ी मेहनत की है, हमें नई गेंद के विकेट की जरूरत थी और उसने अपना चरित्र दिखाया। यह वह मैच था जिसे हमें जीतना चाहिए था, हम लगभग जीत ही गए थे, लेकिन आखिरी कुछ ओवरों में उन्होंने अच्छी गेंदबाजी की।

बांग्लादेश के कप्तान ने कहा कि वे भाग्यशाली हैं कि उनके पास बहुत अच्छे स्पिन गेंदबाज रिशाद हुसैन हैं, जो कड़ी मेहनत करते हैं और अपना कौशल दिखाते हैं।

उन्होंने कहा, यह वह मैच था जिसे हमें जीतना चाहिए था, आखिरी कुछ ओवरों में उन्होंने वास्तव में अच्छी गेंदबाजी की। क्रिकेट में ऐसा हो सकता है। रिशाद बहुत अच्छा है, जिस तरह से हमने पिछली कुछ सीरीज में गेंदबाजी की, उसने बहुत कड़ी मेहनत की। हम पिछले 10-15 वर्षों से लेग स्पिनरों से जूझ रहे हैं, इसलिए हम भाग्यशाली हैं कि हमें वह मिला। उम्मीद है कि वह आगे भी ऐसा ही करेगा। सभी समर्थकों का धन्यवाद, उम्मीद है कि वे वेस्टइंडीज भी आएंगे।

मैच की बात करें तो, यह एक ऐसा खेल था जिसका फैसला दक्षिण अफ्रीका के कप्तान एडेन मार्करम द्वारा अंतिम ओवर में खेले गए एक दांव से हुआ। पूरे टूर्नामेंट में तेज गेंदबाजों के अनुकूल सतह पर, मार्करम ने 11 रन का बचाव करने के लिए स्पिनर केशव महाराज को गेंद सौंपी।

मार्करम का यह दांव कामयाब रहा क्योंकि अनुभवी स्पिनर ने जाकेर अली और महमूदुल्लाह को आउट करके प्रतियोगिता के इतिहास में सबसे कम स्कोर का सफलतापूर्वक बचाव किया और टीम को 4 रन से जीत दिलाई। दोनों बल्लेबाजों ने बाउंड्री पार कराने की कोशिश की, लेकिन दोनों ही मौकों पर मार्करम ने कैच पकड़ा।

हिन्दुस्थान समाचार/ सुनील

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story