कांग्रेस के महिला विरोधी रुख ने राजस्थान को महिलाओं के खिलाफ अपराधों का केंद्र बना दिया: मोदी

कांग्रेस के महिला विरोधी रुख ने राजस्थान को महिलाओं के खिलाफ अपराधों का केंद्र बना दिया: मोदी
कांग्रेस के महिला विरोधी रुख ने राजस्थान को महिलाओं के खिलाफ अपराधों का केंद्र बना दिया: मोदी


नई दिल्ली, 20 नवंबर (हि.स.)। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को कहा कि कांग्रेस के महिला विरोधी रुख ने राजस्थान को महिलाओं के खिलाफ अपराधों का केंद्र बना दिया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के लिए वंशवाद की राजनीति ही सब कुछ है, उन्हें तुष्टिकरण के अलावा कुछ नहीं सूझता है।

राजस्थान के पाली में एक सार्वजनिक बैठक को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने विकास के प्रति देश की प्रतिबद्धता और 21वीं सदी में भारत की उन्नति में राजस्थान की महत्वपूर्ण भूमिका पर जोर दिया। प्रधानमंत्री ने भाजपा सरकार के विकास दृष्टिकोण को रेखांकित किया और राज्य में कांग्रेस पार्टी के कुशासन की निंदा की।

प्रधानमंत्री मोदी ने पिछले पांच वर्षों में कांग्रेस सरकार के शासन में राजस्थान में विकास की कमी पर चिंता व्यक्त की। उन्होंने भ्रष्टाचार, भाई-भतीजावाद और तुष्टिकरण की राजनीति को प्राथमिकता देने के लिए कांग्रेस की आलोचना की, जिसके बारे में उनका मानना था कि यह राज्य की प्रगति में बाधक है।

प्रधानमंत्री ने कांग्रेस शासन के दौरान उभरे दंगों और विभाजनकारी माहौल का हवाला देते हुए राजस्थान में तुष्टिकरण की राजनीति के प्रभाव की ओर ध्यान आकर्षित किया। उन्होंने कांग्रेस को उसकी विकृत मानसिकता के लिए सबक सिखाने की जरूरत पर बल दिया।

प्रधानमंत्री मोदी ने जालोर जिले के कानीवाड़ा में एक विशेष घटना पर प्रकाश डाला, जहां पीढ़ियों से दलित समुदाय के पुजारियों द्वारा पूजा जाने वाला हनुमानजी का एक प्राचीन मंदिर कांग्रेस के संरक्षण में एक लक्ष्य बन गया है। उन्होंने राजस्थान में दलित परिवारों पर हो रहे अत्याचार की ओर इशारा करते हुए महिलाओं और दलितों के खिलाफ कांग्रेस की भाषा की निंदा की।

महिलाओं के मुद्दों पर प्रधानमंत्री मोदी ने महिला विरोधी होने और ऐसा माहौल बनाने के लिए कांग्रेस की आलोचना की जहां महिलाओं के खिलाफ अपराध बढ़े हैं। उन्होंने राजस्थान की महिलाओं से राज्य को कांग्रेस से मुक्त करने का आग्रह करते हुए एक ऐसी सरकार की आवश्यकता पर जोर दिया, जो महिलाओं के कल्याण और सुरक्षा के लिए काम करे।

उन्होंने कहा, ''महिला विरोधी कांग्रेस कभी भी महिलाओं के कल्याण या सुरक्षा के लिए काम नहीं कर सकती। कांग्रेस ने महिलाओं के खिलाफ अपराध में राजस्थान को नंबर वन बनाया है। इधर, मुख्यमंत्री का दावा है कि बहन-बेटियों की ओर से की गई शिकायतें फर्जी हैं। विधान सभा में मुख्यमंत्री के निकटतम मंत्री इस अत्याचार को यह कहकर उचित ठहराते हैं कि यह पुरुषों का राज्य है।”

प्रधानमंत्री ने कांग्रेस और भाजपा सरकारों की कर नीतियों की तुलना करते हुए आर्थिक चिंताओं को भी संबोधित किया। उन्होंने भाजपा सरकार के तहत प्रत्यक्ष करों में कटौती पर प्रकाश डाला, जिससे मध्यम वर्ग को महत्वपूर्ण राहत मिली। प्रधानमंत्री मोदी ने पेट्रोल की ऊंची कीमतों के लिए राजस्थान सरकार की भी आलोचना की और 3 दिसंबर को भाजपा सरकार बनने के बाद कीमतों की समीक्षा का वादा किया।

मीडिया को मुख्यमंत्री की धमकियों का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने जानकारी दबाने की कोशिशों के खिलाफ कड़ा रुख अपनाया। उन्होंने भ्रष्टाचार और काले धन से संबंधित मुद्दों की कवरेज को रोककर स्टोरी को नियंत्रित करने की कोशिश के लिए कांग्रेस की आलोचना की। उन्होंने कहा, ''जिसकी नैया डुबाेना जनता ने तय कर लिया है वो कांग्रेस पैसे देकर अखबारों में झूठी लहर फैला रही है।''

प्रधानमंत्री ने राजस्थान के पाली में पर्यटन और विकास की संभावनाओं पर जोर दिया और अमृत भारत स्टेशन योजना के तहत सड़क और रेल कनेक्टिविटी में सुधार के लिए भाजपा सरकार के प्रयासों पर प्रकाश डाला।

हिन्दुस्थान समाचार/ सुशील/दधिबल

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story