प्रधानमंत्री ने की यूएई के राष्ट्रपति के साथ द्विपक्षीय वार्ता, समझौतों पर हस्ताक्षर

प्रधानमंत्री ने की यूएई के राष्ट्रपति के साथ द्विपक्षीय वार्ता, समझौतों पर हस्ताक्षर
प्रधानमंत्री ने की यूएई के राष्ट्रपति के साथ द्विपक्षीय वार्ता, समझौतों पर हस्ताक्षर


नई दिल्ली, 13 फरवरी (हि.स.)। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और यूएई के राष्ट्रपति शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान के बीच मंगलवार को व्यक्तिगत और प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता हुई। दोनों देशों के बीच इस दौरान कुछ करार हुए हैं। भारत-मध्य पूर्व आर्थिक गलियारे पर भारत और संयुक्त अरब अमीरात के बीच एक अंतर सरकारी ढांचा बनाए जाने पर समझौता हुआ है।

प्रधानमंत्री कार्यालय के अनुसार दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय निवेश संधि हुई है। भारत ने संयुक्त अरब अमीरात के साथ द्विपक्षीय निवेश संधि और व्यापक आर्थिक साझेदारी समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। इससे दोनों देशों में निवेश को बढ़ावा मिलेगा।

प्रधानमंत्री ने संयुक्त अरब अमीरात के घरेलू कार्ड जयवान के लॉन्च पर राष्ट्रपति शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान को बधाई दी। यह डिजिटल रुपे क्रेडिट और डेबिट कार्ड स्टैक पर आधारित है। दोनों नेता जयवान कार्ड के उपयोग से हुए लेनदेन के भी साक्षी बने।

नेताओं ने ऊर्जा साझेदारी को मजबूत करने पर भी चर्चा की। उन्होंने सराहना की कि भारत अब यूएई के साथ एलएनजी के लिए दीर्घकालिक अनुबंध में प्रवेश कर रहा है। संयुक्त अरब अमीरात पहले ही भारत के लिए कच्चे तेल और एलपीजी के सबसे बड़े स्रोतों में एक है।

त्वरित भुगतान प्लेटफ़ॉर्म - यूपीआई (भारत) और एएएनआई (यूएई) को आपस में जोड़ने, घरेलू डेबिट व क्रेडिट कार्डों- रुपे (भारत) को जयवान (यूएई) को आपस में जोड़ने पर समझौता हुआ है।

इसके अलावा विद्युत इंटरकनेक्शन और व्यापार के क्षेत्र में सहयोग डिजिटल अवसंरचना परियोजनाओं में सहयोग तथा विरासत और संग्रहालयों के क्षेत्र में सहयोग पर समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर हुए हैं। दोनों देशों के राष्ट्रीय अभिलेखागार के बीच सहयोग प्रोटोकॉल पर भी समझौता हुआ है।

यात्रा से पहले राइट्स लिमिटेड ने अबूधाबी पोर्ट्स कंपनी और गुजरात मैरीटाइम बोर्ड ने अबूधाबी पोर्ट्स कंपनी के साथ समझौते पर हस्ताक्षर किए। इनसे बंदरगाह के बुनियादी ढांचे के निर्माण और दोनों देशों के बीच कनेक्टिविटी को और बढ़ाने में मदद मिलेगी।

प्रधानमंत्री ने राष्ट्रपति शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान को उनके व्यक्तिगत सहयोग और अबूधाबी में बीएपीएस मंदिर के निर्माण के लिए भूमि देने में उनके उदार रवैये के लिए धन्यवाद दिया। दोनों पक्षों ने कहा कि बीएपीएस मंदिर संयुक्त अरब अमीरात-भारत की मित्रता, गहरे सांस्कृतिक बंधनों का उत्सव है और सद्भाव, सहिष्णुता और शांतिपूर्ण सह-अस्तित्व के लिए संयुक्त अरब अमीरात की वैश्विक प्रतिबद्धता का प्रतीक है।

उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज संयुक्त अरब अमीरात की आधिकारिक यात्रा पर अबूधाबी पहुंचे। यहां राष्ट्रपति नाहयान ने उनका एक विशेष और गर्मजोशी भरा स्वागत किया।

दोनों नेताओं ने आमने-सामने और प्रतिनिधिमंडल स्तर की बातचीत की। उन्होंने द्विपक्षीय साझेदारी की समीक्षा की और सहयोग के नए क्षेत्रों पर चर्चा की। उन्होंने व्यापार और निवेश, डिजिटल बुनियादी ढांचे, फिनटेक, ऊर्जा, बुनियादी ढांचे, संस्कृति और लोगों से लोगों के संबंधों सहित सभी क्षेत्रों में व्यापक रणनीतिक साझेदारी को प्रगाढ़ करने का स्वागत किया। चर्चा में क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दे भी शामिल रहे।

हिन्दुस्थान समाचार/ अनूप/संजीव

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story