कांग्रेस को ताकत अपने पांच न्याय और 25 गारंटी से आती है : जयराम रमेश

कांग्रेस को ताकत अपने पांच न्याय और 25 गारंटी से आती है : जयराम रमेश
कांग्रेस को ताकत अपने पांच न्याय और 25 गारंटी से आती है : जयराम रमेश


रांची (झारखंड), 15 मई (हि.स.)। कांग्रेस के महासचिव और पूर्व केंद्रीय मंत्री जयराम रमेश ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि चुनाव के पहले चार चरणों के बाद स्पष्ट हो गया कि इंडिया गठबंधन को बहुमत मिलने जा रहा है। बाकी बचे तीन चरणों का कोई असर अब चुनाव पर नहीं पड़ने वाला है। दक्षिण में भाजपा साफ हो चुकी है। प्रधानमंत्री की भाषा बदल गयी है। प्रधानमंत्री बौखलाए हुए हैं। हताश हैं। दस साल अन्याय काल के बाद अब जनता समझ गई है कि बदलाव और परिवर्तन का समय आ गया है। जल्द ही ये पीएम पद से हटने वाले हैं।

जयराम रमेश बुधवार को रांची के कांग्रेस भवन में संवाददाता सम्मेलन में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस को ताकत अपने पांच न्याय और 25 गारंटी से आती है। हमारी गारंटी हिस्सेदारी न्याय, किसान न्याय, नारी न्याय, श्रमिक न्याय और युवा न्याय पर आधारित हैं। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी के भारत जोड़ो यात्रा और भारत जोड़ो न्याय यात्रा से बदलाव दिखा। इन दोनों यात्राओं के जरिए हमने जनता की बात सुनी। गारंटी कार्ड घर-घर जा रहा है। आठ करोड़ घरों तक हम गए। हमने किसानों को कर्ज माफी की गारंटी दी है। मनरेगा में मजदूरी दर हम 400 रुपये करेंगे। जाति का जनगणना हर 10 साल में करवाएंगे।

जयराम ने प्रधानमंत्री से पूछे चार सवाल

पहला सवाल-नरेन्द्र मोदी के गारंटी और 400 पार का नारा क्यों बंद हुआ? इनके इस नारे का मतलब ये है कि इनको 400 पार करवाओ ताकि ये नया संविधान बनाएं।

दूसरा सवाल-क्यों आप जातिगत जनगणना कराने से भाग रहे हैं? बिहार में तो आपके साथी नीतीश कुमार ने जनगणना कराया है। राहुल गांधी ने भारत जोड़ो न्याय यात्रा के दौरान रांची के एचईसी में कहा था कि हम जातिगत जनगणना कराएंगे।

तीसरा सवाल-1952 में सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि आरक्षण की सीमा अनुसुचित जाति, जनजाति और पिछड़े वर्ग के लिए 50 प्रतिशत की सीमा होनी जरूरी है। रांची में एचईसी की सभा में राहुल गांधी ने कहा था कि इंडिया गठबंधन इस सीमा को बढ़ाएगी।

चौथा सवाल-क्या ये सच नहीं है कि आपने पिछले 10 सालों में सभी कानूनों में संशोधन लाया है, जो आदिवासी और दलितों को सुरक्षित रखने के लिए बनाए गए थे? वन अधिकार अधिनियम और वन संरक्षण कानून-1980 को कमजोर किया गया है ताकि आदिवासियों की जमीन को लेकर पूंजीपतियों को दे दिया जाए।

अंत में जयराम ने कहा कि चुनावी मुकाबले के लिए नहीं, बल्कि लोकतंत्र को बचाने के लिए इंडिया गठबंधन का गठन हुआ है। हम एक होकर लड़ रहे हैं इस संविधान को बचाने के लिए, जिसका एक मूल सिद्दांत संसदीय लोकतंत्र है। इसको बचाने के लिए हम चुनाव लड़ रहे हैं।

इस दौरान कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राजेश ठाकुर, राष्ट्रीय प्रवक्ता ज्योति सिंह, मीडिया प्रभारी राकेश सिन्हा, मीडिया के चेयरमैन सतीश पॉल मुंजिनी, सुमेर चरण और वैभव शुक्ला उपस्थित थे।

हिन्दुस्थान समाचार/ विकास/चंद्र प्रकाश

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story