चारधाम यात्रा : रात्रि 10 बजे से भोर में चार बजे तक यात्री वाहनों का आवागमन रहेगा प्रतिबंधित

चारधाम यात्रा : रात्रि 10 बजे से भोर में चार बजे तक यात्री वाहनों का आवागमन रहेगा प्रतिबंधित
चारधाम यात्रा : रात्रि 10 बजे से भोर में चार बजे तक यात्री वाहनों का आवागमन रहेगा प्रतिबंधित


देहरादून, 15 मई (हि.स.)। उत्तराखंड की विश्व प्रसिद्ध चारधाम यात्रा पर देश-दुनिया से आने वाले श्रद्धालुओं को अब अतिरिक्त सावधानी बरतनी होगी। यातायात व्यवस्थित है और चारधाम यात्रा के सभी मार्ग खुले हैं। लेकिन यमुनोत्री धाम यात्रा मार्ग पर जाने वाले वाहनों के लिए कोई बाइपास रूट नहीं है। अब रात से लेकर भोर के समय वाहन नहीं चलेंगे। डीजीपी की ओर जारी एडवाइजरी में रात्रि 10 बजे से प्रातः चार बजे तक यात्री वाहनों का आवागमन पूर्णतः प्रतिबंधित किया गया है।

यातायात का अधिक दबाव होने पर यात्रा मार्ग के मुख्य-मुख्य पड़ावों (डामटा-बड़कोट-स्यानाचट्टी-दोबाटा-पालीगाड़-ब्रह्मखाल) पर वाहनों को रोका जा रहा है और एक निश्चित अंतराल पर छोड़ा जा रहा है। श्रीगंगोत्री धाम यात्रा मार्ग पर वापसी के समय लेखला पुल से श्रीकेदारनाथ जाने वाले यातायात को लंबगांव और ऋषिकेश जाने वाले यातायात को बड़ेथी की ओर डायवर्ट किया जा रहा है।

चारधाम यात्रा पर आने वाले श्रद्धालुओं के लिए उत्तराखंड पुलिस की एडवाइजरी-

चारधाम यात्रा पर आने वाले यात्रियों की सुविधा, सहयोग व मार्गदर्शन के लिए विभिन्न माध्यम से एजवाइजरी जारी की जा रही है। पुलिस ने गंगोत्री और यमुनोत्री धाम जाने वाले श्रद्धालुओं से अपील की है कि वहां पर अत्यधिक भीड़ होने के फलस्वरूप अपने सुविधानुसार स्थानों पर विश्राम करें। चारधाम यात्रा पर आने वाले श्रद्धालु पंजीकरण अवश्य कराएं। पंजीकृत तिथियों पर ही यात्रा करें। यात्रा आरंभ करने से पूर्व अपना स्वास्थ्य परीक्षण अवश्य कराएं और आवश्यक औषधि साथ रखें। गर्म कपड़े व रेन कोट साथ लेकर चलें। रात्रि 10 बजे से प्रातः चार बजे तक यात्री वाहनों का आवागमन पूर्णतः प्रतिबंधित है। नशीले पदार्थों का सेवन न करें। हेली टिकट फ्रॉड से बचें और अधिकृत साइट https://heliyatra.irctc.co.in से ही हेली टिकट बुक कराएं। पुलिस सहायता के लिए हेल्पलाइन नंबर 112 पर कॉल करें। धामों की मर्यादा, पवित्रता एवं स्वच्छता बनाए रखें। यातायात नियमों का पालन करें। नशा का सेवन न करें।

मार्गों पर मौसम सामान्य, धामों में बारिश के आसार-

चारों धामों में मौसम की स्थिति की बात करें तो हल्के बादल छाए हैं। कहीं-कहीं बारिश होने की संभावना है। उत्तरकाशी जनपद स्थित श्रीयमुनोत्री धाम में बारिश होने की संभावना है। श्रीगंगोत्री धाम में भी बादल छाए हुए हैं। रुद्रप्रयाग जनपद स्थित श्रीकेदारनाथ धाम में हल्की बारिश हो रही है। बादल छाए हुए हैं। चमोली जनपद स्थित श्रीबद्रीनाथ धाम में बारिश होने की संभावना हैं। चारधाम यात्रा मार्गों में मौसम सामान्य है। कहीं-कहीं बारिश होने की संभावना है।

विभिन्न माध्यम से दी जा रही महत्वपूर्ण जानकारियां-

चारधाम यात्रा मार्ग पर तीर्थयात्रियों की सुविधा के लिए पर्यटन पुलिस केंद्र एवं पर्याप्त पुलिस बल तैनात है। पीए सिस्टम एवं क्यूआर कोड के माध्यम से यात्रियों को मार्ग, पार्किंग, मौसम एवं सड़क बाधित होने संबंधी सूचना व अन्य महत्वपूर्ण जानकारियां दी जा रही है। यात्रा मार्ग पर जगह-जगह फ्लैक्स बोर्ड लगाए गए हैं।

चारों धाम में ठहरे हैं 33 हजार श्रद्धालु-

उत्तरकाशी जनपद स्थित श्रीयमुनोत्री धाम में 500 तो श्रीगंगोत्री धाम में चार से पांच हजार यात्री ठहरे हैं। रुद्रप्रयाग जनपद स्थित श्रीकेदारनाथ धाम में 20 हजार, चमोली जनपद स्थित श्रीबद्रीनाथ धाम में 7500 तीर्थयात्री ठहरे हैं।

हिन्दुस्थान समाचार/कमलेश्वर शरण/रामानुज

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story