धर्म के रास्ते में न आए सरकार: शंकराचार्य स्वामी नरेंद्रानंद सरस्वती

धर्म के रास्ते में न आए सरकार: शंकराचार्य स्वामी नरेंद्रानंद सरस्वती
धर्म के रास्ते में न आए सरकार: शंकराचार्य स्वामी नरेंद्रानंद सरस्वती


धर्म के रास्ते में न आए सरकार: शंकराचार्य स्वामी नरेंद्रानंद सरस्वती






हुगली, 13 फरवरी (हि.स.)। काशी सुमेरु पीठ जगत गुरु शंकराचार्य अनंत श्री विभूषित श्री स्वामी नरेंद्रानंद सरस्वती जी महाराज ने मंगलवार को कहा कि कुंभ स्नान के लिए किसी अनुमति की आवश्यकता नहीं होती है। प्रशासन की जिम्मेदारी है कि वह बजट बनाकर मेले में आने वाले लोगों के लिए व्यवस्था करे। बिना नाम लिए शंकराचार्य ने राज्य सरकार को संदेश दिया कि उसे धर्म के रास्ते में नहीं आना चाहिए। वे धार्मिक कार्य में सबका सहयोग करे।

संवाददाताओं ने जब काशी शंकराचार्य से पूछा कि वे लोकसभा चुनाव के लिए किसे आशीर्वाद देंगे, तब उन्होंने कहा कि वर्तमान केंद्र सरकार अच्छा काम कर रही है। केंद्र सरकार गरीबों के साथ है। लोगों के पास विवेक और विचार होना चाहिए, इस सरकार को जनता के हित के लिए लोग दोबारा चुनें।

इससे पहले मंगलवार को हुगली के त्रिवेणी में साधु संन्यासियों ने रैली निकाली और नृत्य किया उसके बाद घाट पर शाही स्नान किया। इस दौरान हुगली सांसद लॉकेट चटर्जी उपस्थित रहीं। सांसद ने कहा भाजपा की सरकार आई तो मेले की व्यवस्था दुरुस्त होगी।

हिन्दुस्थान समाचार /धनंजय /गंगा/संजीव

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story