जम्मू-कश्मीर के आतंकी हमले में मरने वालों में जयपुर के कपड़ा कारोबारी सहित चार लोग

जम्मू-कश्मीर के आतंकी हमले में मरने वालों में जयपुर के कपड़ा कारोबारी सहित चार लोग
जम्मू-कश्मीर के आतंकी हमले में मरने वालों में जयपुर के कपड़ा कारोबारी सहित चार लोग


जयपुर, 10 जून (हि.स.)। जम्मू-कश्मीर में रविवार को आतंकी हमले में मारे गए 10 श्रद्धालुओं में से चार राजस्थान के हैं। यह चारों जयपुर के एक परिवार के ही सदस्य हैं। इनमें एक दो साल की बच्चा भी है। जम्मू-कश्मीर के कंदा इलाके में शिव खोड़ी से कटरा आ रही बस पर रविवार की शाम 6 बजे आतंकियों ने फायरिंग की थी। मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा और चौमूं के पूर्व विधायक रामलाल शर्मा ने घटना को लेकर दुख जताया है।

जयपुर के डीसीपी वेस्ट अमित कुमार ने बताया कि आतंकी हमले में मारे गए चारों लोग एक ही परिवार के सदस्य हैं। हमले में चौमूं (जयपुर) के वार्ड पांच की पांच्यावाली ढाणी निवासी राजेंद्र सैनी (42) पुत्र हनुमान सहाय सैनी, उनकी पत्नी ममता सैनी (40) की मौत हो गई। वहीं राजेंद्र के बड़े भाई ओमप्रकाश की बेटी हरमाड़ा थाना क्षेत्र की अजमेरा की ढाणी निवासी पूजा सैनी (30) और पूजा के बेटे लिवांश उर्फ किट्टू (2) की मौत हुई है। पूजा का पति पवन सैनी (32) गम्भीर रूप से घायल हैं। उनका इलाज कटरा के हॉस्पिटल में चल रहा है।

राजेंद्र सैनी के बड़े भाई ओमप्रकाश ने बताया कि मेरी बेटी पूजा, दामाद पवन, दोहिता लिवांश, छोटा भाई राजेंद्र और उसकी पत्नी ममता वैष्णो देवी के दर्शन करने गए थे। जम्मू से वे अरुण ट्रैवल्स की तीर्थयात्रा बस से शिव खोड़ी से लौटते वक्त आतंकियों ने बस पर फायरिंग कर दी। इस आतंकी हमले में पूजा, लिवांश, राजेंद्र और ममता की मौत हो गई।

ओमप्रकाश सैनी ने बताया कि छोटा भाई राजेंद्र चौमूं के सरकारी हॉस्पिटल के पीछे शॉपिंग कॉम्प्लेक्स में रेडिमेड कपड़ों की दुकान चलाता था। मेरा दामाद पवन अपने गांव (अजमेरा की ढाणी, हरमाड़ा) में ई-मित्र की दुकान संचालित करता था। उन्होंने बताया कि रविवार रात 9.15 बजे एक रिश्तेदार ने हमें घटना की सूचना दी। राजेंद्र और ममता के तीन बच्चे हैं। सबसे बड़ी बेटी वर्षा (21) बीएड कर रही है। दूसरे नंबर का बेटा राहुल (19) कॉलेज की पढ़ाई कर रहा है। जबकि सबसे छोटा बेटा लक्की (17) स्कूल की पढ़ाई कर रहा है। तीनों बच्चों के सिर से माता पिता का साया उठ गया है।

चौमूं के पूर्व विधायक रामलाल शर्मा ने इस घटना को लेकर मुख्यमंत्री भजनलाल से बात की है। मुख्यमंत्री ने घटना पर अपनी संवेदनाएं व्यक्त की। मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद प्रशासन तत्काल सक्रिय हो गया। पूर्व विधायक रामलाल शर्मा ने परिजनों को भी ढांढस बंधाया है। ओमप्रकाश ने आतंकियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है। साथ ही मुआवजा देने और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने की मांग की है। घायल पवन ने बताया कि चलती हुई बस के सामने अचानक दो गाड़ियां आकर रुकी। जिसमें बैठे आतंकियों ने पहले बस के टायरों पर गोलियां मारी। फायरिंग होने पर बस के लोगों ने खिड़की से बाहर देखा तो आतंकियों ने लोगों पर फायरिंग कर दी। आतंकियों ने चलती बस में ड्राइवर को गोली मार दी। ड्राइवर की मौत हो गई और बस अनियंत्रित हो कर खाई में गिर गई। आतंकियों ने करीब तीस-चालीस राउंड फायर किए।

जानकारी के अनुसार जयपुर जिला कलेक्टर प्रकाश राजपुरोहित जम्मू-कश्मीर जिला प्रशासन के संपर्क में और शवों को जयपुर लाने की तैयारी की जा रही है।

हिन्दुस्थान समाचार/रोहित/सुनील

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story