भारत को अराजकता में झोंकना चाहती है कांग्रेस, घुसपैठियों को दे रही बढ़ावा : मोदी

भारत को अराजकता में झोंकना चाहती है कांग्रेस, घुसपैठियों को दे रही बढ़ावा : मोदी
भारत को अराजकता में झोंकना चाहती है कांग्रेस, घुसपैठियों को दे रही बढ़ावा : मोदी


- देश के वीर सपूत बिपिन रावत का अपमान करने वाली कांग्रेस से नहीं की जा सकती देशभक्ति की अपेक्षा

देहरादून, 02 अप्रैल (हि.स.)। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि कांग्रेस भारत को अस्थिरता की तरफ ले जाना चाहती है, अराजकता में झोंकना चाहती है। कांग्रेस ने देश के वीर सपूत स्व. बिपिन रावत तक का अपमान किया था। ऐसी कांग्रेस से देशभक्ति की अपेक्षा नहीं की जा सकती।

देवभूमि पर रुद्रपुर में मंगलवार को आयोजित विजय शंखनाद रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस तुष्टिकरण के दल-दल में ऐसा धंस गई है कि कभी देशहित का नहीं सोच सकती। यही कांग्रेस है जो घुसपैठियों को बढ़ावा देती है। जब भाजपा सीएए के माध्यम से मां भारती में आस्था रखने वालों को भारत की नागरिकता देती है तो कांग्रेस को सबसे ज्यादा तकलीफ होती है। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र के लोग भी जानते हैं कि पाकिस्तान और बांग्लादेश से जो शरणार्थी आए हैं, उनमें से अधिकतर दलित परिवार हैं, सिख परिवार हैं, बंगाली परिवार हैं, लेकिन कांग्रेस इन लोगों को नागरिकता देने का विरोध कर रही है।

कांग्रेस कमजोरी न दिखाती तो भारत की सीमाओं पर नजर डालने की किसी की हिम्मत न होती-

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि उत्तराखंड की धरती का संबंध गुरु नानक देव, गुरु गोविंद सिंह और उदासी संत गुरु रामराय से है। कांग्रेस ने देश का ऐसा बंटवारा किया कि गुरु नानक की जन्मस्थली भी हमसे छिन गई। जबकि भाजपा सरकार ने करतारपुर कॉरिडोर बनाकर लोगों की जिंदगी आसान की है। कांग्रेस कमजोरी न दिखाती तो भारत की सीमाओं पर नजर डालने की किसी की हिम्मत न होती।

देश के सीमावर्ती गांव कांग्रेस के लिए आखिरी गांव, लेकिन भाजपा के लिए प्रथम गांव-

कांग्रेस ने कैसे अपने हाथों से मां भारती के टुकड़े किए, इसका एक और ताजा उदाहरण देश के सामने आया है। तमिलनाडु के पास एक कच्चाथीवू द्वीप है। वो द्वीप भारत का हिस्सा था, लेकिन कांग्रेस ने उसको श्रीलंका को दे दिया। अब इस द्वीप के आसपास भी कोई भारतीय मछुआरा गलती से चला जाता है तो उसे गिरफ्तार कर लिया जाता है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने देश के सीमावर्ती गांवों को भी देश का आखिरी गांव मानकर वहां विकास करना बंद कर दिया था, लेकिन भाजपा सरकार ने सीमा किनारे बसे गांवों को देश का प्रथम गांव माना है, वहां तेज गति से विकास किया है।

कांग्रेस की सरकार रहती तो पूर्व सैनिकों को नहीं मिल पाती वन रैंक-वन पेंशन-

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कांग्रेस की सरकार रहती तो आज पूर्व सैनिकों को वन रैंक-वन पेंशन नहीं मिल पाती, लेकिन मोदी ने सैनिक परिवारों को गारंटी दी थी और इसे पूरा करके दिखाया। आज देशभर के सैनिक परिवारों को ओआरओपी के एक लाख करोड़ रुपये से ज्यादा मिल चुके हैं।

हिन्दुस्थान समाचार/कमलेश्वर शरण/रामानुज

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story