सीबीआई ने एनएचएआई के डायरेक्टर समेत सात को किया गिरफ्तार, सभी 14 जून तक रिमांड पर

सीबीआई ने एनएचएआई के डायरेक्टर समेत सात को किया गिरफ्तार, सभी 14 जून तक रिमांड पर
सीबीआई ने एनएचएआई के डायरेक्टर समेत सात को किया गिरफ्तार, सभी 14 जून तक रिमांड पर


- प्रोजेक्ट एनओसी के लिए रिश्वत मांगने के मामले में सीबीआई की छापेमारी

भोपाल, 10 जून (हि.स.)। केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने सोमवार को नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एनएचएआई) के छतरपुर के प्रोजेक्ट डायरेक्टर पीएल चौधरी समेत सात लोगों को गिरफ्तार किया है। सभी को सोमवार सुबह भोपाल में सीबीआई की विशेष कोर्ट में पेश किया गया। कोर्ट ने सभी सात आरोपितों की 14 जून तक की रिमांड मंजूर की है। इसके बाद टीम सभी को लेकर दिल्ली रवाना हो गई। सीबीआई की टीम ऑफिस और डायरेक्टर के निवास से दस्तावेज जब्त कर अपने साथ ले गई है। हालांकि, सीबीआई की टीम ने मीडिया से कुछ भी बताने से इंकार कर दिया।

यह पूरा मामला झांसी खजुराहो फोरलेन निर्माण में हुआ भ्रष्टाचार से जुड़ा है। सीबीआई की दिल्ली और भोपाल की टीम शनिवार रात आठ बजे छतरपुर पहुंची थी और रविवार सुबह एनएचएआई के डायरेक्टर पीएल चौधरी के पन्ना रोड में अंबेडकर नगर स्थित आवास और पन्ना रोड पर ही चंद्रपुरा के पास स्थित एनएचएआई के ऑफिस में एक साथ छापा मार कार्रवाई की शुरू की, जो देर रात तक जारी रही। इसके बाद सोमवार सुबह टीम सभी को भोपाल लेकर आई थी।

सीबीआई की एंटी करप्शन विंग के अनुसार नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एनएचएआई) के झांसी-खजुराहो हाइवे प्रोजेक्ट के डायरेक्टर पुरुषोत्तम लाल चौधरी ने प्रोजेक्ट के स्वामित्व परिवर्तन और इसकी एनओसी जारी करने के एवज में 10 लाख रुपये की रिश्वत ली थी। इस मामले में बीते शनिवार को सीबीआई ने पीएस चौधरी सहित 10 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया था। सीबीआई ने प्रोजेक्ट डायरेक्टर चौधरी और एनएचएआई के कंसलटेंट शरद प्रकाश वर्मा को रविवार को रिश्चत लेते छतरपुर स्थित एनएचएआई दफ्तर में गिरफ्तार किया था। इसके अलावा सीबीआई ने पीएनसी इंफ्राटेक के कर्मचारी बृजेश मिश्रा, शुभम जैन, अनिल जैन, सत्यनारायण अंगूलरी और रेसीडेंट इंजीनियर प्रेम कुमार सिन्हा को गिरफ्तार किया है।

सीबीआई की टीम रविवार को एनएचएआई डारेक्टर को हिरासत में साथ लेकर उनके कार्यालय पहुंची थी। यहां से प्रमुख फाइलों की पड़ताल करने के बाद उन्हें जब्त कर लिया गया था। बाद में उन्हीं की निशानदेही पर सड़क निर्माण करने वाली पीएनसी कंपनी के प्रोजेक्ट मैनेजर ब्रजेश मिश्रा को भी गिरफ्तार किया गया था। इसके बाद एनएचएआई और पीएनसी से जुड़े शुभम जैन, अनिल जैन, सत्यनारायण अंगलूरी और प्रेम कुमार सिन्हा को भी पकड़ा गया। शेष तीन लोगों की गिरफ्तारी होना शेष है। सीबीआई की टीम उनकी सर्चिंग में जुटी हुई है।

हिन्दुस्थान समाचार/मुकेश/सुनीत

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story