मुंबई बम विस्फोट के सजायाफ्ता कैदी अबू सलेम को सताने लगा जान का डर

मुंबई बम विस्फोट के सजायाफ्ता कैदी अबू सलेम को सताने लगा जान का डर
मुंबई बम विस्फोट के सजायाफ्ता कैदी अबू सलेम को सताने लगा जान का डर


- तलोजा जेल से किसी दूसरी जेल में शिफ्ट न किए जाने की गुहार

मुंबई, 11 जून (हि.स.)। कुख्यात गैंगस्टर और मुंबई बम विस्फोट के सजायाफ्ता कैदी अबू सलेम को अब अपनी जान का डर सताने लगा है। इसी वजह से उसने अपने वकील के मार्फत सेशन कोर्ट में याचिका लगाकर तलोजा जेल से किसी दूसरी जेल में शिफ्ट न किए जाने की गुहार लगाई है। कोर्ट ने इस मामले पर आज सुनवाई की और बुधवार को भी करने का आदेश दिया है।

अबू सलेम की ओर से सेशन कोर्ट में दिए गए आवेदन पर आज सुनवाई हुई। सलेम के वकील अलीशा पारेख ने कोर्ट को बताया कि महाराष्ट्र की अन्य जेलों में छोटा राजन और मुस्तफा डोसा के गुर्गों को रखा गया है, इसलिए सलेम को इन दोनों गैंगस्टरों से जान का खतरा है। इसी वजह से सलेम को तलोजा जेल से किसी अन्य जेल में शिफ्ट न किया जाए।

सुनवाई के दौरान तलोजा जेल की ओर से कहा गया कि सलेम को जिस कोठरी में रखा गया है, उसकी हालत अच्छी नहीं है। इस कोठरी की मरम्मत करने की जरूरत है। इसी वजह से अबू सलेम को किसी अन्य जेल में शिफ्ट करने का निर्णय जेल प्रशासन ने लिया है। कोर्ट ने आदेश दिया है कि इस मामले की कल भी सुनवाई होगी और कोर्ट इस मामले में अपना निर्णय देगा।

सलेम के वकील अलीशा पारेख ने पत्रकारों को बताया कि इस मामले में अभी अंतरिम राहत मिली है। अबू सलेम के लिए कोई अन्य सुरक्षित जगह नहीं है, इसलिए उसे किसी अन्य जेल में स्थानांतरित नहीं किया जाना चाहिए। अगले दिन कोर्ट में इस पर अंतिम बहस होगी और अदालत का फैसला आएगा। उस पर दो बार हमला किया गया था और उस पर फिर से हमला किया जा सकता है।

कुख्यात गैंगस्टर अबू सलेम 1993 के मुंबई विस्फोट का दोषी है, जो मौजूदा समय में आजीवन कारावास की सजा काट रहा है। उसे करीब 19 साल पहले पुर्तगाल से प्रत्यर्पण के बाद भारत लाया गया था और इस समय तलोजा जेल में रखा गया है।

हिन्दुस्थान समाचार/राजबहादुर/सुनीत

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story