इतिहास के पन्नों में 27 जनवरीः बल्ब के आविष्कार एडिसन ने हार नहीं मानी



देश-दुनिया के इतिहास में 27 जनवरी तमाम अहम कारणों से दर्ज है। इस तारीख का महत्व बल्ब के आविष्कार अमेरिका के वैज्ञानिक थॉमस अल्वा एडिसन से भी जुड़ा है। एडिसन ने 27 जनवरी, 1880 को ही बल्ब का पेटेंट कराया था। एडिसन बल्ब बनाने के प्रयास में कई बार विफल हो गए थे पर कभी हार नहीं मानी। एक बार उन्होंने अपने चपरासी को ऑफिस में बुलाकर उसके हाथ में बल्ब थमाते हुए टेस्ट करने को कहा। बल्ब की खोज में लगातार विफल हो रहे एडिसन की बात सुनकर वो घबरा गया और उसके हाथ से बल्ब छूटकर टूट गया। एडिसन ने दो दिन बाद उसे फिर बुलाया। इस बार भी एक और बल्ब थमाया। इस पर एडिसन के एक साथी ने उन्हें टोका। कहा-अगर उसने फिर गिरा दिया तो मेहनत खराब हो जाएगी। यह सुनकर एडिसन ने कहा कि अगर बल्ब टूट भी गया तो दोबारा बन जाएगा। लेकिन, अगर उसका का आत्मविश्वास टूट गया, तो उसे लौटाना मुश्किल होगा। आत्मविश्वास के बिना कोई भी काम मुश्किल है। इस बात ने सभी को एक सीख दी।

एक बार एक पत्रकार ने एडिसन से सवाल किया कि 10 हजार बार फेल होने के बाद की सफलता से आप कैसा महसूस कर रहे हैं? इस पर एडिसन ने कहा था कि मैं 10 हजार बार फेल नहीं हुआ हूं बल्कि मैंने 10 हजार बार में बल्ब का आविष्कार किया है। थॉमस का जन्म 11 फरवरी, 1847 में अमेरिका के मिलान में हुआ था। उन्होंने अपने जीवनकाल में आविष्कारों के 1,093 पेटेंट कराए। पढ़ाई में कमजोर एडिसन ने 10 साल की उम्र में अपने घर में एक लैब बना ली थी।एडिसन ने बल्ब बनाने में 40 हजार डॉलर खर्च किए थे। एडिसन का निधन 18 अक्टूबर, 1931 को हुआ था।

महत्वपूर्ण घटनाचक्र

1823ः अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति जेम्स मोनरो ने दक्षिण अमेरिका के लिए पहला राजदूत नियुक्त किया।

1891: पेन्सिलवेनिया के माउंट प्लीसेंट में हुए खदान विस्फोट में 109 लोगों की मौत।

1943: अमेरिका ने जर्मनी पर पहली बार हवाई हमला किया।

1948ः दुनिया में पहला टेप रिकॉर्डर बिका।

1959: नई दिल्ली में पहले इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी कॉलेज की नींव रखी गई।

1969: इराक के बगदाद में 14 लोगों को जासूसी के अपराध में फांसी की सजा सुनाई गई।

1974ः नई दिल्ली के तीन मूर्ति में नेहरू मेमारियल म्यूजियम का उद्घाटन।

1988ः पहली बार हेलीकाॅप्टर डाक सेवा का उद्घाटन।

1996: फ्रांस ने न्यूक्लियर टेस्ट किया।

2008ः पश्चिम बंगाल के 13 जिलों में बर्ड फ्लू फैला।

2013: अफगानिस्तान के कंधार में हुए बम हमलों में 20 पुलिस अधिकारियों की जान चली गई।

जन्म

1889ः प्राचीन भारतीय साहित्य के अन्वेषीमुनि जिनविजय।

1907ः प्रसिद्ध साहित्यकार पंडित सीताराम चतुर्वेदी।

1922ः भारतीय अभिनेता अजीत।

1956ः समाजवादी पार्टी नेता अमर सिंह।

1978ः मेघालय के मुख्यमंत्री कॉनराड संगमा ।

1999ः भारत की महिला भारोत्तोलक बिंदियारानी देवी।

निधन

2007: हिंदी के साहित्यकार, पटकथा लेखक और प्रख्यात कथाकार कमलेश्वर।

2008ः इंडोनेशिया के पूर्व राष्ट्रपति हाजी मुहम्मद सुहार्तो।

2009ः भारत के पूर्व राष्ट्रपति आर. वेंकटरमन।

हिन्दुस्थान समाचार/मुकुंद

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story