गहलोत के आरोप झूठे, उन्हें इतना असुरक्षित नहीं होना चाहिए: पायलट

गहलोत के आरोप झूठे, उन्हें इतना असुरक्षित नहीं होना चाहिए: पायलट


जयपुर, 24 नवंबर (हि.स.)। पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के आरोपों पर पलटवार करते हुए कहा है कि गहलोत पहले भी मुझे नाकारा, निकम्मा और गद्दार कह चुके हैं, उन्होंने मुझ पर जो आरोप लगाए हैं, वे बेबुनियाद हैं। ये समय भाजपा से लड़ने का है, ऐसे झूठे आरोप लगाने की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि वे पार्टी के अनुभवी नेता हैं, उन्हें इतना असुरक्षित नहीं होना चाहिए। हम आज किसी पद पर है, तो जरूरी नहीं है कि हमेशा रहे। पता नहीं कौन मुख्यमंत्री को ऐसी सलाह दे रहा है।

एक निजी चैनल को दिए इंटरव्यू में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा उन्हें गद्दार कहने पर सचिन पायलट ने प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री उन पर झूठे आरोप ना लगाएं। राजनीति में उनके कद के नेता को ये बयान देना शोभा नहीं देता है।

इससे पहले गहलोत ने सचिन पायलट पर जमकर भड़ास निकालते हुए कहा कि राजस्थान में कांग्रेस की सरकार गिराने की साजिश में जिम्मेदार शामिल थे। उन्होंने सचिन को गद्दार करार देते हुए कहा कि 2020 में मानेसर में बीजेपी की मिलीभगत से राजस्थान में सरकार गिराने की साजिश में सचिन पायलट और उनके साथी विधायक शामिल थे, जिन्हें भाजपा से 10 करोड़ रुपये मिले थे। इसका जवाब देते हुए पायलट ने हुए कहा कि पहले भी सीएम मुझे नकारा, निकम्मा और गद्दार कह चुके है, ये सब कहना उनके जैसे वरिष्ठ नेता के कद को घटाता है, हमें नहीं भूलना चाहिए उनके नेतृत्व में हम दो बार राजस्थान का चुनाव हारे भी है।

हिन्दुस्थान समाचार/रोहित/संदीप

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story