भारत गौरव पर्यटक ट्रेन 'श्री जगन्नाथ यात्रा' को केन्द्रीय मंत्रियों ने दिखाई हरी झंडी



नई दिल्ली, 25 जनवरी (हि.स.)। केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव और केंद्रीय संस्कृति मंत्री जी किशन रेड्डी ने बुधवार को दिल्ली के सफदरजंग रेलवे स्टेशन से भारत गौरव पर्यटक ट्रेन ‘श्री जगन्नाथ यात्रा’ को हरी झंडी दिखाई।

आठ दिवसीय यात्रा के लिए 528 पर्यटक ट्रेन में सवार हुए हैं। यह ट्रेन उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड और ओडिशा के प्रमुख तीर्थ और विरासत स्थलों को कवर करेगी। इसमें वाराणसी, बैद्यनाथ धाम और गया के अलावा भारत के चार धामों में से एक यानी पुरी का जगन्नाथ मंदिर प्रमुख आकर्षण हैं।

इस अवसर केन्द्रीय मंत्री प्रधान ने कहा कि ट्रेन देश के आम नागरिकों को देश के भीतर, विशेष रूप से तीर्थ स्थलों की यात्रा करने में सक्षम बनाने के प्रधानमंत्री के दृष्टिकोण को पूरा करती है। उन्होंने कहा कि यात्रियों के लिए आवास, भोजन और स्थानीय परिवहन सहित उच्च गुणवत्ता वाली सुविधाएं प्रदान की गई हैं। उन्होंने कहा कि इस तरह की पहल न केवल लोगों को समृद्ध भारतीय सांस्कृतिक विरासत के बारे में जागरूक होने का अवसर प्रदान करेगी, बल्कि कई लोगों को रोजगार भी प्रदान करेगी।

तीर्थयात्रियों के सुरक्षित और सुखद यात्रा की कामना करते हुए केन्द्रीय मंत्री वैष्णव ने कहा कि आठ ऐसे तीर्थ सर्किट पहले ही चालू हो चुके हैं, जिससे श्रद्धालुओं को खुद को भारतीय संस्कृति से परिचित कराने का अवसर मिल रहा है। उन्होंने कहा कि भारत में बड़ी संख्या में पर्यटन स्थल हैं और प्रधानमंत्री अपने मंत्रालय को लोगों तक आसान पहुंच, उपयुक्त सुविधाएं और उचित जानकारी उपलब्ध कराने के लिए उनका सही तरीके से दोहन करने के लिए मार्गदर्शन कर रहे हैं।

केंद्रीय संस्कृति मंत्री रेड्डी ने कहा कि लाखों भारतीय धार्मिक स्थलों की यात्रा करना चाहते हैं लेकिन सुविधा और सामर्थ्य की कमी के कारण ऐसा नहीं कर पाते हैं। उन्होंने कहा कि आज की पहल, पर्यटन दिवस और मतदाता दिवस के अवसर पर, घरेलू पर्यटन, विशेष रूप से देश के आम लोगों के बीच, को बढ़ावा देने में एक लंबा रास्ता तय करेगी। मंत्री ने कहा कि देश में घरेलू पर्यटन का तेजी से विस्तार हो रहा है।

जानकारी के अनुसार इस ट्रेन का पहला पड़ाव प्राचीन पवित्र शहर वाराणसी में है, जहां पर्यटक गंगा घाट के साथ काशी विश्वनाथ मंदिर और गलियारे का भ्रमण करेंगे। वाराणसी के बाद ट्रेन झारखंड के जशीडीह रेलवे स्टेशन जाएगी और पर्यटक बैद्यनाथ धाम ज्योतिर्लिंग मंदिर के दर्शन करेंगे। ट्रेन जशीडीह से पुरी के लिए रवाना होगी जहां होटलों में उनके लिए दो रात ठहरने की व्यवस्था की गई है जबकि पुरी में, पर्यटक जगन्नाथ मंदिर, गोल्डन पुरी समुद्र तट, कोणार्क में सूर्य मंदिर और भुवनेश्वर के मंदिरों की यात्रा करेंगे। पुरी के बाद गया आखिरी गंतव्य होगा जहां विष्णुपद मंदिर के दर्शन यात्रा में शामिल होंगे। ट्रेन 1 फरवरी को वापस दिल्ली लौटेगी।

अत्याधुनिक एसी रेक के साथ टूरिस्ट ट्रेन में टूर में गाजियाबाद, अलीगढ़, टूंडला, इटावा, कानपुर और लखनऊ स्टेशनों पर ट्रेन में चढ़ने व उतरने का विकल्प है। ट्रेन में यात्रियों को पेंट्री कार में ताजा पका हुआ शाकाहारी भोजन परोसा जाएगा।

हिन्दुस्थान समाचार/सुशील

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story