अभाविप की राष्ट्रीय कार्यकारी परिषद बैठक में देशभर के प्रतिनिधि हुए शामिल

अभाविप की राष्ट्रीय कार्यकारी परिषद बैठक में देशभर के प्रतिनिधि हुए शामिल


जयपुर, 24 नवंबर (हि.स.)। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (अभाविप) की राष्ट्रीय कार्यकारी परिषद की बैठक गुरुवार को जे.ई.सी.आर.सी. विश्वविद्यालय में सम्पन्न हुई। यह बैठक कुल चार सत्रों में चली तथा शिक्षा एवं समाज से जुड़े पांच विषयों पर प्रस्ताव प्रस्तुत किए गए। इन प्रस्तावों को शुक्रवार से शुरू हो रहे तीन दिवसीय राष्ट्रीय अधिवेशन में विस्तृत चर्चा के बाद पारित किया जाएगा। इस बैठक की शुरुआत में सत्रहवीं सदी के वीर योद्धा अहोम सेनापति लचित बोरफूकन को सभा स्थल पर अभाविप के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रो. छगन भाई पटेल, राष्ट्रीय महामंत्री निधि त्रिपाठी तथा राष्ट्रीय संगठन मंत्री आशीष चौहान सहित सभी प्रतिनिधियों ने पुष्प अर्पित कर नमन किया।

अभाविप का 68वां राष्ट्रीय अधिवेशन जयपुर में 25 से 27 नवंबर तक चलेगा। अधिवेशन आरंभ होने के पूर्व, गुरुवार को राष्ट्रीय कार्यकारी परिषद बैठक आयोजित हुई, जिसमें देशभर से कुल 294 प्रतिनिधियों ने भाग लिया। बैठक के उद्घाटन सत्र में उपस्थित प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रो. छगनभाई पटेल ने कहा कि राजस्थान के प्रत्येक घर में वीरता का इतिहास मिलता है, ऐसी वीरों की भूमि पर अधिवेशन का आयोजन महत्वपूर्ण है। वर्तमान का भारत टेक्नोलॉजी, सुरक्षा, शिक्षा आदि क्षेत्रों में आगे बढ़ रहा है। हम अपने स्वदेशी सैटेलाइट लांच कर अंतरिक्ष क्षेत्र में आत्मनिर्भरता प्राप्त कर चुके हैं। भारत को जी-20 के इस वर्ष की अध्यक्षता करने का अवसर मिला है। यह बहुत महत्वपूर्ण है। इस अवसर के माध्यम से हम भारतीय मूल्यों को वैश्विक दुनिया के सामने प्रस्तुत कर सकते हैं। राष्ट्रीय कार्यकारी परिषद बैठक में समसामयिक स्थिति, शिक्षा क्षेत्र में प्रगति, स्वावलंबी भारत आदि विषयों पर जो महत्वपूर्ण चर्चा हुई, वह भारतीय युवाओं को दिशा देने वाली होगी।

राष्ट्रीय महामंत्री निधि त्रिपाठी ने कहा कि अभाविप का जयपुर राष्ट्रीय अधिवेशन शिक्षा क्षेत्र संबंधी विचार-संवाद के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है। अभाविप ने राजस्थान में रीट परीक्षा में घोटाले को उजागर करने के साथ परीक्षार्थियों के साथ न्याय के लिए लंबी लड़ाई लड़ी है। अभाविप ने इस वर्ष देशभर में अलग-अलग शैक्षणिक संस्थानों में हुए छात्रसंघ चुनावों में जीत दर्ज की है। राजस्थान छात्रसंघ चुनावों में सरकारी मशीनरी के दुरुपयोग के बावजूद महत्वपूर्ण प्रदर्शन करते हुए विद्यार्थी परिषद ने विभिन्न जगहों पर जीत दर्ज की। विद्यार्थी परिषद ने इस वर्ष अलग-अलग शैक्षणिक संस्थानों में फीस वृद्धि के विरोध में प्रदर्शन किया है। विद्यार्थी परिषद विद्यार्थियों तथा समाज की समस्याओं के निराकरण के लिए सतत प्रयासरत है। हम इस अधिवेशन के माध्यम शिक्षा एवं समाज क्षेत्र के महत्वपूर्ण विषयों पर सकारात्मक संवाद कर आगे की रणनीति तय करेंगे।

हिन्दुस्थान समाचार/ दिनेश/संदीप

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story