गुजरात से 6 केन्द्रीय मंत्रियों ने ली शपथ

गुजरात से 6 केन्द्रीय मंत्रियों ने ली शपथ
गुजरात से 6 केन्द्रीय मंत्रियों ने ली शपथ


-अमित शाह और मांडविया तीसरी बार, पाटिल व निमुबेन पहली बार बनी मंत्री

अहमदाबाद, 09 जून (हि.स.)। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के तीसरे टर्म में गुजरात से 6 मंत्रियों को शामिल किया गया है। इसमें अमित शाह और मानसुख मांडविया तीसरी बार जबकि जेपी नड्डा और एस. जयशंकर दूसरी बार और सी.आर. पाटिल व निमुबेन बंभानिया पहली बार केन्द्रीय मंत्रिमंडल में शामिल हुईं हैं। नरेन्द्र मोदी की पहली सरकार मोदी-1 में गुजरात से 2 कैबिनेट मंत्री और 5 राज्य मंत्री शामिल थे। वहीं दूसरे टर्म में गुजरात से 4 कैबिनेट और 3 राज्य मंत्री शामिल थे। इस बार गुजरात से 6 मंत्री बनाए गए हैं। इनमें 5 कैबिनेट मंत्री और एक राज्य मंत्री शामिल हैं।

गुजरात में गांधीनगर से सांसद अमित शाह तीसरी बार केन्द्रीय मंत्री बने हैं। इसके अलावा मनसुख मांडविया भी तीसरी बार मंत्री बने हैं। इसी तरह एस. जयशंकर, जेपी नड्डा दूसरी बार मंत्री बने हैं। जबकि सीआर पाटिल और निमुबेन बंभानिया को पहली बार केन्द्रीय मंत्री बनाया गया है। पिछले दो टर्म की तुलना में इस बार गुजरात का प्रतिनिधित्व 1 मंत्री के रूप में कम हुआ है। पहले टर्म में 2 कैबिनेट मंत्री स्मृति इरानी और अमित शाह शामिल हुए थे। वहीं राज्य मंत्रियों में मनसुख मांडविया, मोहन कुंडारिया, परषोत्तम रूपाला, हरि चौधरी और जसवंतसिंह भाभोर के नाम शामिल थे।

इसी तरह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के दूसरे टर्म में गुजरात से 4 केन्द्रीय मंत्री और 3 राज्य मंत्री का समवेश था। इसमें केन्द्रीय मंत्री में अमित शाह, एस. जयशंकर, परषोत्तम रूपाला और मनसुख मांडविया को केबिनेट मंत्री और देवुसिंह चौहाण, डॉ महेन्द्र मुंजपरा और दर्शना जरदोश राज्य मंत्री बनीं थी।

मोदी 3.0 मंत्रिमंडल में शामिल गुजरात के मंत्री

अमित शाह: गांधीनगर लोकसभा सीट से लगातार दूसरी बार सांसद चुने गए हैं। इन्होंने लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के सोनलबेन पटेल को 7.44 लाख मतों के रिकॉर्ड अंतर से हराया है। गत टर्म में वे गृह मंत्री थे। जबकि पहले टर्म में वे भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में भाजपा को सदस्य संख्या के मामले में विश्व की सबसे बड़ी पार्टी बनाने में अहम भूमिका निभाई थी। 59 वर्षीय शाह बायोकेमेस्ट्री से इन्होंने ग्रेजुएशन किया है। परिवार में पत्नी सोनल शाह, बेटा जय शाह है। बेटा बीसीसीआई का सचिव है।

सी आर पाटिल: नवसारी लोकसभा सीट से लगातार चौथी बार चुने गए हैं। इस बार उन्होंने राज्य में सबसे बड़ी लीड हासिल करने में सफलता पाई है। पाटिल ने कांग्रेस के नैषध देसाई को 7.77 लाख मतों के अंतर से शिकस्त दी है। वे भी गुजरात प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष है। गुजरात में वर्ष 2022 विधानसभा चुनाव में प्रदेश अध्यक्ष रहते पाटिल ने सबसे अधिक सीट 182 में से 156 लाकर माधवसिंह सोलंकी के 149 सीटों के रिकॉर्ड को तोड़ा। इसके बाद से ही वे केन्द्रीय नेतृत्व के चहेते बन गए। 69 वर्षीय पाटिल ने आईटीआई की पढ़ाई की है। वे पुलिस की नौकरी छोड़कर राजनीति में आए। इनके परिवार में पत्नी गंगा, पुत्र जिग्नेश पाटिल समेत तीन पुत्री हैं। पाटिल पहली बार केन्द्रीय मंत्री बने हैं।

एस जयशंकर: एस. जयशंकर गुजरात से राज्यसभा के सांसद हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की पहली सरकार (2014-19) में वे विदेश सचिव थे। वर्ष 2019 में वे पहली बार केन्द्र सरकार में शामिल हुए और उन्हें विदेश मंत्री बनाया गया। देश में जी-20 की मीटिंग उनके कार्यकाल में सफलतापूर्वक आयोजित की गई। 69 वर्षीय एस. जयशंकर एम.फिल. और पीएचडी तक पढ़ाई किए हुए हैं। परिवार में पत्नी कयोको सोमेकावा और दो बेटा और एक बेटी है।

मनसुख मांडविया: गुजरात के पोरबंदर से सांसद हैं। कांग्रेस के ललित वसोया से 3.38 लाख मतों के अंतर से जीते। मोदी-2 सरकार में वे स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री रहे। कोविड के दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ कदमताल करते हुए देश को महामारी से उबारने में अहम भूमिका निभाई। कोविड के दौरान देश भर में बेहतर स्वास्थ्य प्रबंधन के लिए उनकी जमकर सराहना हुई। 51 वर्षीय मांडविया ने पी.एचडी तक पढ़ाई की है। पत्नी नीता के अलावा परिवार में एक लड़का और एक लड़की है। वे सबसे कम उम्र 28 वर्ष में विधायक बने थे। वर्ष 2012 में वे पहली बार गुजरात से राज्यसभा के सदस्य चुने गए थे।

निमुबेन बंभानिया: भावनगर लोकसभा सीट से भाजपा की निमुबेन बंभानिया ने आम आदमी पार्टी (आआपा) के उमेश मकवाणा को 4,55,289 मतों के अंतर से हराया। इस सीट पर कांग्रेस और आआपा ने गठबंधन कर चुनाव लड़ा था। कोली समाज की निमुबेन वर्ष 2005 से 2020 तक लगातार तीन टर्म भावनगर महानगर पालिका में पार्षद रही थीं। दो बार उन्हें भावनगर महानगर पालिका का महापौर भी बनाया गया। निमुबेन ने बी.एससी. और बी.एड. की पढ़ाई की है। शिक्षक भी रह चुकी हैं। वर्ष 2004 में भाजपा से जुड़कर सक्रिय राजनीति में आई थी। 57 वर्षीय निमुबेन ने स्नातक की पढ़ाई की है।

जे.पी. नड्डा: जगत प्रकाश नड्डा (जे.पी. नड्डा) गुजरता से राज्यसभा के सदस्य हैं। 63 वर्षीय नड्डा ने एलएलबी की पढ़ाई की है। मूल रूप से हिमाचल प्रदेश से आते हैं। दो बार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष रह चुके हैं। नरेन्द्र मोदी की पहली सरकार में वे केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री थे। परिवार में इनकी पत्नी मल्लिका नड्डा समेत दो पुत्र हैं।

हिन्दुस्थान समाचार/बिनोद/आकाश

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story