यूक्रेन ने 6 नेपाली युद्धबंदी को किया सार्वजनिक



नेपाल, 17 मार्च (हि.स.)। रूस-युक्रेन युद्ध के दौरान रूसी सेना की तरफ से युद्ध लड़ रहे छह नेपाली सैनिकों को युक्रेन ने आज एक वीडियो मैसेज के जरिए सार्वजनिक किया है। युद्धबंदी के रूप में युक्रेन के कब्जे में रहे इन नेपाली नागरिकों की रिहाई को लेकर युक्रेन की तरफ से कोई भी आश्वासन नहीं दिया गया है।

युक्रेन सेना के तरफ से एक वीडिओ मैसेज जारी करते हुए अपने कब्जे में रहे विदेशी युद्धबंदियों को सार्वजनिक किया गया है। इस वीडिओ में कुल आठ युद्धबंदियों को दिखाया गया है, जिसमें छह नेपाली नागरिक शामिल हैं। युक्रेन की सेना ने इनके नाम सार्वजनिक करते हुए यह दिखाने की कोशिश की है कि रूस युक्रेन पर हमला करने के लिए विदेश के भाड़े के सैनिकों की मदद ले रहा है। जिन नेपाली नागरिकों को युद्धबंदी के रूप में सार्वजनिक किया गया है, उनमें रोल्पा जिले के प्रतीक पुन, बर्दिया के विवेक खत्री, काभ्रे जिला के सिद्धार्थ ढकाल, मोरंग जिले के विकास राई, चितवन के सुजन सुवेदी और गोरखा के इश्वर लामिछाने शामिल हैं।

इस वीडिओ में युद्धबंदियों से सवाल जवाब किए जाने का दृष्य दिखाया गया है। इधर वीडियो में दिखाए गए नेपाली नागरिकों के परिवारवालों ने इनकी सकुशल रिहाई के लिए सरकार और अन्तरराष्ट्रीय समुदाय से एक बार फिर आग्रह किया है। लम्बे समय से युक्रेन के कब्जे में रहे अपने लोगों के देखकर परिवार वालों ने राहत की सांस ली है। कई महीने से संपर्कविहीन रहे इन नेपाली नागरिकों को जीवित देखकर परिवार वालों ने खुशी जाहिर की है।

वीडियो जारी होने के बाद नेपाल सरकार की तरफ से इनकी सुरक्षित और सकुशल रिहाई के लिए प्रयास को और तेज करने की बात कही गई है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अमृत राई ने कहा कि युक्रेन के कन्सुलर विभाग के जरिए नेपाली नागरिकों की रिहाई के लिए पहल का प्रयास किया जा रहा है।

हिन्दुस्थान समाचार/पंकज/आकाश

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story