ऋषि सुनक ने माना, इंग्लैंड के अस्पतालों में प्रतीक्षा अवधि कम करने के वादे में विफल

ऋषि सुनक ने माना, इंग्लैंड के अस्पतालों में प्रतीक्षा अवधि कम करने के वादे में विफल


ऋषि सुनक ने माना, इंग्लैंड के अस्पतालों में प्रतीक्षा अवधि कम करने के वादे में विफल


लंदन, 05 फरवरी (हि.स.)। प्रधानमंत्री ऋषि सुनक ने सोमवार को माना कि वह इंग्लैंड के अस्पतालों में प्रतीक्षा अवधि कम करने के अपने वादे में विफल रहे। टॉकटीवी के साथ साक्षात्कार में उन्होंने प्रधानमंत्री बनने के बाद इस संबंध में की गई प्रतिज्ञा पूरी करने में अपनी विफलता स्वीकार की।

द गार्डियन अखबार की रिपोर्ट के अनुसार इस साक्षात्कार को सोमवार को पियर्स मॉर्गन अनसेंसर्ड यूट्यूब चैनल पर दोपहर 2 बजे और टॉकटीवी पर रात आठ बजे प्रसारित किया जाएगा। सुनक ने साक्षात्कार में कहा कि इस दिशा में हमने पर्याप्त प्रगति नहीं की। यह पूछे जाने पर कि क्या इसका मतलब यह है कि वह विफल हो गए हैं। प्रधानमंत्री ने जवाब दिया: हां, हम विफल हो गए हैं।

इस संबंध में शैडो हीथ सेक्रेटरी लेबर के वेस स्ट्रीटिंग ने कहा, ''ऋषि सुनक ने आखिरकार वह स्वीकार कर लिया जो वर्षों से बाकी सब स्वीकार करने में हिचकते रहे हैं।'' अखबार की रिपोर्ट के अनुसार पिछले साल अक्टूबर में यह खुलासा हुआ था कि इंग्लैंड में एनएचएस उपचार के लिए 18 महीने से अधिक समय तक इंतजार करने वाले लोगों की संख्या बढ़ रही है।

स्वास्थ्य सेवाओं से संबद्ध नेताओं ने दिसंबर में सुनक को चेतावनी दी थी कि औद्योगिक विवाद को जारी रखने से उनकी प्रतिज्ञा को पूरा करना लगभग असंभव हो जाएगा। फिर भी, सुनक ने अपनी विफलता के लिए हड़ताली कर्मचारियों को दोषी ठहराने की कोशिश की।

साक्षात्कारकर्ता पियर्स मॉर्गन ने सुनक को तीन महीने पहले दिल का दौरा पड़ने के बाद उनकी 79 वर्षीय मां के एनएचएस देखभाल के अनुभव के बारे में बताया। ब्रॉडकास्टर ने कहा कि एम्बुलेंस से अस्पताल ले जाने के बावजूद उनकी मां को लगभग सात घंटे तक एएंडई कॉरिडोर में एक ट्रॉली पर इंतजार करना पड़ा। इस पर सुनक ने कहा कि यह चौंकाने वाला था।

हिन्दुस्थान समाचार/मुकुंद/दधिबल

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story