हूती विद्रोहियों ने लाल सागर में जहाज को निशाना बनाकर दागीं मिसाइलें

यरुशलम, 27 अप्रैल (हि.स.)। एक बार फिर यमन के हूती विद्रोहियों ने लाल सागर से गुजर रहे जहाज पर शुक्रवार को मिसाइलें दागी, हालांकि यह उससे कुछ दूरी पर गिरीं। एक निजी सुरक्षा फर्म ने यह जानकारी दी।

कुछ दिनों के विराम के बाद अब फिर से हूती विद्रोहियों ने हमले तेज कर दिए हैं। गाजा पट्टी में हमास के खिलाफ इजराइल के युद्ध के दौरान क्षेत्र में नौवहन मार्ग पर हूती विद्रोहियों ने हमलों की शुरुआत की थी। निजी सुरक्षा फर्म एंब्रे ने कहा कि हमले में तीन मिसाइलें दागी गईं, जो पनामा-का ध्वज लगे एक टैंकर के करीब गिरीं। यह टैंकर सेशेल्स में पंजीकृत है। एंब्रे ने कहा कि जहाज ‘प्रिमोर्स्क’ रूस से भारत में गुजरात के वाडिनार की ओर जा रहा था।

जहाज-ट्रैकिंग डेटा के अनुसार यह घटना उस वक्त की है जब ‘एंड्रोमेडा स्टार’ नामक एक टैंकर जहाज मोचा के पास जलमार्ग से गुजर रहा था। हूती ने मिसाइल दागने की जिम्मेदारी नहीं ली है लेकिन पूर्व में इस तरह के हमलों में समूह की संलिप्तता रही है। ब्रिटिश सेना के ‘यूनाइटेड किंगडम मैरीटाइम ट्रेड ऑपरेशंस सेंटर’ ने भी मोचा के पास हमले की सूचना दी। हाल के हफ्तों में हूती के हमलों में कमी आई थी क्योंकि यमन में अमेरिकी नेतृत्व वाले हवाई हमले में विद्रोहियों को निशाना बनाया गया। खतरे के कारण लाल सागर और अदन की खाड़ी से जहाजों की आवाजाही पर भी असर पड़ा है।

बुधवार से, हूती विद्रोहियों द्वारा कम से कम दो हमले हुए हैं। सबसे पहले अमेरिकी ध्वज वाले जहाज ‘एमवी यॉर्कटाउन’ को निशाना बनाया गया। दूसरी मिसाइल ने ‘एमएससी डार्विन’ को निशाना बनाया।

हिन्दुस्थान समाचार / अजीत तिवारी/प्रभात

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story