नेपाली नागरिकों को रूसी सेना में भर्ती करने वाले गिरोह का पर्दाफाश, 12 गिरफ्तार

नेपाली नागरिकों को रूसी सेना में भर्ती करने वाले गिरोह का पर्दाफाश, 12 गिरफ्तार


नेपाली नागरिकों को रूसी सेना में भर्ती करने वाले गिरोह का पर्दाफाश, 12 गिरफ्तार


काठमांडू, 06 दिसंबर (हि.स.)। नेपाली नागरिकों को अवैध रूप से रूस भेजकर वहां की सेना में भर्ती कराने वाले गिरोह का पर्दाफाश कर 12 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। नेपाल पुलिस ने इनके पास से 50 से अधिक पासपोर्ट भी बरामद किया है।

नेपाल पुलिस की क्राइम ब्रांच ने काठमांडू के अलग-अलग ठिकानों पर छापा मारकर 12 लोगों को गिरफ्तार किया। इनके पास से 50 से अधिक पासपोर्ट भी बरामद किया गया है। पुलिस ने बताया कि इन सभी पासपोर्ट पर रूस का वीजा लगा हुआ था। हिरासत में लिए गए आरोपितों के पास से 27 लाख रुपये नकद भी बरामद किए गए हैं। गिरफ्तार आरोपितों में द्रोण डांगी, दीपेन पेरियार, क्षितिज गिरी, सुभाष लामा, मनीष न्यौपाने, रोसल महर्जन, हरि बहादुर विश्वकर्मा, ईश्वर अधिकारी, गोकर्ण आर्यल, सुजाता दाहाल, संतोष रोक्का और संतोष नेपाल शामिल हैं।

काठमांडू के पुलिस अधीक्षक कुमोद ढुंगेल ने बताया कि इन सभी को जिला अदालत में पेश कर रिमांड पर लिया गया है। आगे की जांच जारी है। इन सभी की गिरफ्तारी के लिए काठमांडू के लेनचौर, ठमेल और महाराजगंज इलाके में छापेमारी की गई थी। यह गिरोह नेपालियों को अवैध रूप से रूसी सेना में शामिल होने के लिए विजिट वीजा पर रूस भिजवाने की व्यवस्था करता था। अब तक गिरफ्तार 12 लोगों के खिलाफ किसी ने भी शिकायत दर्ज नहीं कराई है। रूसी सेना में शामिल छह नेपाली नागरिकों की मौत और कुछ सैनिकों को यूक्रेन द्वारा बंधक बनाए जाने की घटना सामने आने के बाद नेपाल सरकार ने जांच के आदेश दिए थे।

हिन्दुस्थान समाचार/पंकज दास /पवन

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story