नेपाल और भारत के बीच क्यूआर कोड से भुगतान को लेकर सीमाएं तय कीं गईं

- अब भारत में नेपाली क्यूआर से प्रति माह 1 लाख रुपये कर सकेंगे भुगतान

- भुगतान के लिए होटल, अस्पताल, रिसर्च और फार्मेसी में नहीं है कोई सीमा

काठमांडू, 17 अप्रैल (हि.स.)। नेपाल और भारत के बीच क्यूआर कोड से भुगतान को लेकर नेपाल ने रकम खर्च को लेकर कुछ सीमाएं तय की हैं। पिछले महीने से भारत और नेपाल में ऑनलाइन पेमेंट की सुविधा शुरू की गई है।

नेपाल राष्ट्र बैंक ने अपने देश के नागरिकों के लिए भारत में नेपाली बैंक खातों का प्रयोग कर ऑनलाइन भुगतान की सीमा तय की है। राष्ट्र बैंक के गवर्नर महा प्रसाद अधिकारी ने बताया कि कोई भी नेपाली नागरिक भारत भ्रमण के दौरान क्यूआर कोड का प्रयोग कर प्रति महीने अधिकतम 1 लाख रुपये तक का भुगतान कर सकेगा। उन्होंंने बताया कि नेपाली बैंक खाता से सीधे भारत के भीम, यूपीआई, गूगलपे, फोनपे, पेटीएम आदि के क्यूआर कोड के जरिए भुगतान करने की सुविधा दी गई है।

गवर्नर अधिकारी ने बताया कि अस्पताल, फार्मेसी, होटल या किसी मेडिकल रिसर्च के लिए भुगतान की कोई सीमा तय नहीं की गई है। उन्होंने यह भी बताया कि भारत में काम कर रहे नेपाली नागरिक अपने भारतीय बैंक खाता का प्रयोग कर नेपाल के किसी भी बैंक खाते में एक बार में एक लाख रुपये तक ऑनलाइन ट्रांसफर कर सकते हैं।

नेपाल राष्ट्र बैंक ने भारत के अलावा विदेश के अन्य देशों के लिए अलग से मापदंड बनाया है। भारत के अलावा अन्य देश जाने पर वार्षिक दो हजार अमेरिकी डॉलर तक का भुगतान करने की व्यवस्था की गई है। गवर्नर अधिकारी के मुताबिक नेपाली बैंक खातों की रकम को यूएस डॉलर में कन्वर्ट कर प्रति वर्ष 500 डॉलर तक का ऑनलाइन भुगतान किया जा सकेगा।

हिन्दुस्थान समाचार/पंकज दास/सुनीत

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story