नेपाली क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान दुष्कर्म मामले में दोषी करार

नेपाली क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान दुष्कर्म मामले में दोषी करार
नेपाली क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान दुष्कर्म मामले में दोषी करार


काठमांडू, 29 दिसम्बर (हि.स.)। नेपाल की क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान संदीप लामिछाने को जिला अदालत काठमांडू ने दुष्कर्म के एक मामले में दोषी करार दिया है। लामिछाने पर लगे दुष्कर्म के आरोप को सही ठहराते हुए अदालत ने उन्हें 10 जनवरी को ही सजा सुनाई जाने की बात कही है।

जिला अदालत काठमांडू के न्यायाधीश शिशिर राज ढकाल की एकल पीठ ने कहा कि पीड़ित लड़की और संदीप लामिछाने के काठमांडू के एक होटल के एक ही कमरे में रात गुजारने में कोई संशय नहीं है। न्यायाधीश ने कहा कि सीसीटीवी फुटेज और अन्य गवाहों के बयान के आधार पर पीड़ित लड़की के साथ जबरदस्ती शारीरिक संबंध स्थापित किए जाने की पुष्टि भी होती है। हालांकि अदालत ने अपने फैसले में पीड़ित लड़की के नाबालिग होने के दावों को खारिज करते हुए विभिन्न दस्तावेजों के आधार पर उसे बालिग करार दिया है।

क्रिकेटर संदीप लामिछाने पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली लड़की ने खुद को नाबालिग बताते हुए संदीप पर उसी मुताबिक सजा की मांग की थी लेकिन अदालत ने पीड़ित लड़की के नाबालिग होने के दावों को खारिज कर दिया। अपने फैसले में अदालत ने कहा कि यद्यपि पीड़ित लड़की नाबालिग नहीं है लेकिन उसकी आर्थिक तंगी और अकेलेपन का फायदा उठाते हुए एक ही कमरे में रात गुजारने के दौरान क्रिकेटर लामिछाने ने पीड़ित लड़की के साथ जबरन शारीरिक संबंध स्थापित करने का प्रयास किया था।

अदालत ने बलात्कार मामले में दोषी करार देते हुए संदीप लामिछाने की सजा के लिए 10 जनवरी का दिन तय किया है। नेपाल के कानून के मुताबिक तीन वर्ष से अधिक की सजा होने के मामले में सजा पर अलग से बहस करने का प्रावधान है। 10 जनवरी को न्यायाधीश ढकाल की अदालत में होने वाली सुनवाई में लामिछाने की कैद, जुर्माना और मुआवजा तय होगा।

लामिछाने पर 6 सितम्बर 2022 को एक लड़की ने बलात्कार का आरोप लगाते हुए पुलिस में एफआईआर दर्ज कराई थी। यह आरोप संदीप लामिछाने पर उस समय लगाया गया था जब वो वेस्टइंडीज के दौरे पर कैरेबियन प्रीमियर लीग खेल रहे थे।

पीड़ित लड़की ने अपनी शिकायत में कहा था कि संदीप लामिछाने ने वेस्टइंडीज दौरे पर जाने से पहले उसे काठमांडू के पास रहे नगरकोट के एक रिसॉर्ट में ले गए। दिनभर वहां रखा और देर शाम काठमांडू आकर गौशाला के एक होटल में कमरा लेकर उसे वहीं रुकने पर मजबूर किया। लड़की ने बताया कि उस घटना के अगले दिन ही संदीप वेस्टइंडीज दौरे पर चले गए और उन्होंने उस लड़की का फोन ब्लॉक कर दिया, सोशल मीडिया पर उन्हें ब्लॉक कर दिया जबकि उस रात को शारीरिक संबंध बनाने के लिए शादी का झांसा भी दिया था।

संदीप को वेस्टइंडीज दौरा बीच में छोड़कर आना पड़ा जहां 6 अक्टूबर को एयरपोर्ट पर विमान से उतरते ही उन्हें पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। लामिछाने को इस मामले में करीब ढाई महीने तक न्यायिक हिरासत में रखा गया था। जिला अदालत द्वारा न्यायिक हिरासत में भेजे जाने के फैसले के खिलाफ लामिछाने हाई कोर्ट गए जहां 12 जनवरी 2023 कों उन्हें 20 लाख रुपये की जमानत पर रिहा कर दिया गया था। उसके बाद लामिछाने ने एशिया कप और टी20 क्वालीफाई मैच में नेपाल की तरफ से राष्ट्रीय क्रिकेट टीम में खेला भी था।

हिन्दुस्थान समाचार / पंकज दास /प्रभात

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story