भारत को बिजली बेचकर नेपाल ने छह महीने में कमाया 15 अरब रुपये से अधिक का मुनाफा

भारत को बिजली बेचकर नेपाल ने छह महीने में कमाया 15 अरब रुपये से अधिक का मुनाफा


भारत को बिजली बेचकर नेपाल ने छह महीने में कमाया 15 अरब रुपये से अधिक का मुनाफा


नेपाल, 28 फ़रवरी (हि.स.)। नेपाल विद्युत प्राधिकरण ने भारत में बिजली बेचकर पिछले छह महीने में 15 अरब रुपये से अधिक का मुनाफ़ा कमाया है। यह मुनाफा पिछले साल इसी अवधि के मुकाबले 5 अरब रुपये अधिक है।

नेपाल विद्युत प्राधिकरण की तरफ से आज सार्वजनिक किए गए आंकड़ों में बताया गया है कि पिछले वित्त वर्ष में प्राधिकरण का कुल मुनाफ़ा 12 अरब रुपये था जबकि इस वित्त वर्ष की पहली छमाही में ही मुनाफा 15 अरब रुपये का आंकड़ा पार कर गया है। पिछले वित्त वर्ष की पहली छमाही में करीब 10 अरब रुपये का मुनाफ़ा हुआ था। इस तरह इस बार प्राधिकरण को पहली छमाही में ही 5 अरब रुपये अधिक का मुनाफ़ा हुआ है।

प्राधिकरण का आंकड़ा सार्वजनिक करते हुए कार्यकारी निदेशक कुलमान घिसिंग ने कहा कि सरकारी और निजी कंपनियों की तरफ से भारत को बिजली बेचकर प्राधिकरण ने यह मुनाफा कमाया है। घिसिंग ने बताया कि भारत की नई ऊर्जा नीति के कारण नेपाल के अधिकांश निजी बिजली कंपनियों को रियल टाइम में बिजली बेचने की सुविधा मिली है, जिसके कारण प्राधिकरण का मुनाफ़ा बढ़ा है। उन्होंने यह भी कहा कि नेपाल की बिजली उत्पादक कंपनियों के लिए भारत में डे अहेड (यानी एक दिन पहले सूचित कर ) और रियल टाइम (यानी एक घंटे की सूचना पर) बिजली बेचने की सुविधा है।

प्राधिकरण द्वारा सार्वजनिक किए गए आंकड़ों के मुताबिक़ पहली छमाही में कुल 45 अरब 49 करोड़ रुपये का कारोबार हुआ है। इसमें भारत में ही सिर्फ 30 अरब 48 करोड़ रुपये की बिजली बेची गई है। घिसिंग के मुताबिक़ प्राधिकरण को इस मुनाफे से नई परियोजनाओं को शुरू करने में मदद मिलेगी।

हिन्दुस्थान समाचार/ पंकज दास/दधिबल

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story