मोइज्जू को पूर्व राष्ट्रपति सोलिह की सलाह, जिद छोड़ कर भारत से मतभेद सुधारना चाहिए



माले, 25 मार्च (हि.स.)। मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति इब्राहिम मोहम्मद सोलिह ने राष्ट्रपति मोहम्मद मोइज्जू को सलाह दी है कि आर्थिक चुनौतियों से निपटने के लिए उन्हें अपनी जिद छोड़ कर पड़ोसी देश भारत से बातचीत करनी चाहिए। मालदीव के राष्ट्रपति मोइज्जू को चीन समर्थक नेता के तौर पर देखा जाता है जो अक्सर भारत के खिलाफ जहर उगलते रहते हैं।

सोलिह ने कहा, मैंने मीडिया रिपोर्ट्स देखी हैं, जिससे पता चलता है कि मोइज्जू कर्ज की रिस्ट्रक्चरिंग के लिए भारत से बात करना चाहते हैं। मालदीव के सामने जो आर्थिक चुनौतियां खड़ी हुई हैं, उसमें कहीं भी भारत के कर्ज का रोल नहीं है। मालदीव पर चीन का 18 बिलियन मालदीवियन रूफिया का कर्ज है, जबकि भारत का महज 8 बिलियन मालदीवियन रूफिया का। भारत के मामले में मालदीव को 25 साल के अंदर भुगतान करना है। उन्होंने भरोसा जताते हुए कहा कि मुझे लगता है कि हमारे पड़ोसी हमारी मदद करेंगे लेकिन इसके लिए हमें जिद छोड़नी होगी और बातचीत करनी होगी।

उल्लेखनीय है कि सितंबर 2023 में हुए राष्ट्रपति चुनाव में मोइज्जू ने सोलिह को हरा दिया था।

हिन्दुस्थान समाचार/ संजीव

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story