भारतीय व्यवसायी का अपहरण कर नेपाल में फिरौती वसूलने वाले गिरोह का सरगना गिरफ्तार



काठमांडू, 9 मार्च (हि.स.)। भारत के सीमावर्ती क्षेत्र के व्यापारियों का अपहरण कर नेपाल में लाने और उनसे फिरौती वसूलने वाले गिरोह के सरगना को स्थानीय पुलिस ने गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार शख्स भारत का निवासी है।

भारत के सीमावर्ती सीतामढ़ी से लेकर जोगबनी तक के व्यापारियों का अपहरण कर लाखों रुपये वसूलने के आरोप में भारतीय नागरिक राजन मांझी को नेपाल पुलिस ने गिरफ्तार किया है। महोत्तरी और मोरंग पुलिस के संयुक्त अभियान में मोरंग जिले के कंचनबारी से मांझी को गिरफ्तार किया गया। मोरंग पुलिस के डीएसपी और इस ऑपरेशन के इंचार्ज राजन दाहाल ने मीडियाकर्मियों को बताया कि कई दिनों से एक छोटे से होटल में रह कर अपहरण गिरोह चलाने वाले मांझी की गिरफ्तारी एक बडी उपलब्धि है। बिहार पुलिस ने मांझी की गिरफ्तारी के लिए कहा था। मांझी पर सीतामढ़ी के दो, जोगबनी के तीन और सुपौल के दो व्यवसायियों के अपहरण करने का आरोप है।

डीएसपी दाहाल ने बताया कि बिहार से अपहरण कर नेपाल के विभिन्न स्थानों पर बंधक बनाकर रखा जाता था। उसके बाद नेपाली नंबर से ही फिरौती मांग कर नेपाल में ही फिरौती वसूला जाता था। पिछले कई महीनों से एक के बाद एक अपहरण की घटना बढ़ने के बाद बिहार पुलिस ने जांच में पाया कि अपहरणकर्ता नेपाल से ही गिरोह का संचालन करते थे। बिहार पुलिस की तरफ से मांझी के फोन लोकेशन के आधार पर उसके नेपाल के मोरंग जिले में छिपे होने की जानकारी नेपाल पुलिस को दी गई थी। बाद में नेपाल में प्रदेश पुलिस और मोरंग तथा महोत्तरी पुलिस की संयुक्त टीम गठित की गई। कई दिनों के प्रयास के बाद अन्ततः मांझी को पकड़ने में कामयाबी मिली है। मांझी को मोरंग के जिला अदालत में पेश किया गया। अदालत ने उसे सात दिन की पुलिस कस्टडी में भेजने का आदेश दिया है। महोत्तरी पुलिस ने बताया कि मांझी पर स्थानीय पुलिस थानों में भी कई मामले दर्ज हैं। इस कारण उसे फिर से कस्टडी में लिया जाएगा।

हिन्दुस्थान समाचार/पंकज/पवन

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story