हमास बंधकों को छुड़ाने के लिए इजराइली हमले में 274 फलस्तीनियों की मौत

हमास बंधकों को छुड़ाने के लिए इजराइली हमले में 274 फलस्तीनियों की मौत
हमास बंधकों को छुड़ाने के लिए इजराइली हमले में 274 फलस्तीनियों की मौत


गाजा/यरुशलम, 9 जून (हि.स.)। हमास द्वारा बंधक बनाए गए चार इजराइली नागरिकों को छुड़ाने के लिए इजराइली सेना द्वारा किए गए हमले में कम से कम 274 फलस्तीनी मारे गए और सैकड़ों अन्य घायल हो गए। गाजा के स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार को यह दावा किया। वहीं, इजराइली सेना के मुताबिक दिन में चलाए गए जटिल अभियान के दौरान उसे भारी गोलीबारी का सामना करना पड़ा। चार बंधकों को जीवित बचाने पर इजराइली लोगों ने अभियान को सफलता के रूप में मनाया।

माना जाता है कि घनी आबादी वाले इलाकों में या हमास की सुरंगों के अंदर बड़ी संख्या में बंधकों को रखा गया, जिससे ऐसे अभियान अधिक जटिल और जोखिम भरे हो जाते हैं। फरवरी में इसी तरह की एक छापेमारी की कार्रवाई में दो बंधकों को मुक्त कराया गया था। अभियान के दौरान 74 फलस्तीनियों की भी मौत हो गई थी।

शनिवार को छापेमारी में करीब 700 लोग घायल हुए हैं। मंत्रालय ने फिलहाल हताहतों में महिलाओं और बच्चों की संख्या नहीं बताई है, लेकिन पास के शहर दीर अल बलाह के अस्पताल में कई लोगों का उपचार चल रहा है।

इजराइलियों ने 26 वर्षीय नोआ अरगामनी, 22 वर्षीय अल्मोग मीर जान, 27 वर्षीय एंड्री कोजलोव और 41 वर्षीय श्लोमी जिव की वापसी का जश्न मनाया। अरगामनी उन सबसे चर्चित बंधकों में से एक थी, जिन्हें तीन अन्य लोगों की तरह एक संगीत समारोह से ले जाया गया था। उसके अपहरण के वीडियो में उसे मोटरसाइकिल पर दो व्यक्तियों के बीच बैठा हुआ दिखाया गया था और वह चिल्ला रही थी, मुझे मत मारो। उसकी मां, लिओरा को ब्रेन कैंसर है और उन्होंने एक वीडियो जारी करके अपनी बेटी को देखने की गुहार लगाई थी। इजराइल के चैनल 13 ने कहा कि अरगामनी को उस अस्पताल में ले जाया गया जहां उसकी मां का उपचार किया जा रहा है।

डॉ. इताई पेसाच शेबा अस्पताल में चिकित्सक हैं, जहां मुक्त कैदियों का इलाज किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि उपचार के लिए लाए गए बंधकों में से किसी को भी गंभीर शारीरिक चोट नहीं आई है, लेकिन उन्हें छुट्टी मिलने में कई दिन लग सकते हैं।

इजराइल के सैन्य प्रवक्ता रियर एडमिरल डैनियल हगारी ने शनिवार को पत्रकारों को बताया कि बंधकों को नुसेरात शिविर के केंद्र में एक-दूसरे से लगभग 200 मीटर दूर दो अपार्टमेंट में रखा गया था।

हगारी ने बताया कि बचाव दल को बंदूकधारियों द्वारा रॉकेट चालित हथगोले से निशाना बनाए जाने के बाद सेना दल को घटनास्थल से निकालने और बंधकों को मुक्त करने के लिए विमानों सहित भारी बल का इस्तेमाल किया।

इजराइल के विदेश मंत्री इजराइल कैट्ज ने सोशल मीडिया मंच एक्स पर जारी पोस्ट में अभियान के आलोचकों पर हमला बोला। उन्होंने कहा केवल इजराइल के दुश्मनों ने हमास आतंकवादियों और उनके साथियों के हताहत होने की शिकायत की।

हमास ने सात अक्टूबर को दक्षिणी इजराइल पर हमला कर करीब 250 लोगों को बंधक बना लिया था, जिनमें से लगभग आधों को नवंबर में एक सप्ताह के संघर्ष विराम के बाद रिहा कर दिया गया। करीब 120 बंधक अब भी बचे हुए हैं, जिसमें से 43 की मौत हो चुकी है। जीवित बचे लोगों में लगभग 15 महिलाएं, पांच वर्ष से कम उम्र के दो बच्चे और 80 वर्ष से अधिक उम्र के दो पुरुष शामिल हैं।

शनिवार को अभियान के बाद सैन्य अभियान में मुक्त कराए गए कुल बंधकों की संख्या सात हो गई, जिसमें से एक को अक्टूबर के हमले के तुरंत बाद मुक्त कर दिया गया था। सरकार के अनुसार, इजराइली सैनिकों ने कम से कम 16 अन्य लोगों के शव बरामद किए हैं।

हिन्दुस्थान समाचार/अजीत तिवारी/प्रभात

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story