भारत-प्रशांत क्षेत्र में चीन की आक्रामक कार्रवाई का जापान-अमेरिका मुकाबला करने के लिए प्रतिबद्ध

भारत-प्रशांत क्षेत्र में चीन की आक्रामक कार्रवाई का जापान-अमेरिका मुकाबला करने के लिए प्रतिबद्ध
भारत-प्रशांत क्षेत्र में चीन की आक्रामक कार्रवाई का जापान-अमेरिका मुकाबला करने के लिए प्रतिबद्ध


वाशिंगटन, 11 अप्रैल (हि.स.)। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन और संयुक्त राज्य अमेरिका की राजकीय यात्रा पर पहुंचे जापान के प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा ने भारत-प्रशांत क्षेत्र में चीन की आक्रामक कार्रवाई का मुकाबला करने की अपनी प्रतिबद्धता दोहराई। साथ ही सहयोगियों के बीच सैन्य, आर्थिक और अन्य सहयोग को और बढ़ाने के लिए बुधवार को कई कदमों की घोषणा की।

द न्यूयॉर्क टाइम्स अखबार की रिपोर्ट के अनुसार, जापान के प्रधानमंत्री के सम्मान में आयोजित भव्य समारोह में राष्ट्रपति बाइडेन ने कहा कि संयुक्त राज्य अमेरिका और जापान ऑस्ट्रेलिया के साथ एक विस्तारित रक्षा चक्रव्यूह बनाएंगे। ब्रिटेन के साथ त्रिस्तरीय सैन्य अभ्यास में हिस्सा लेंगे। जापान को अमेरिकी नेतृत्व में शामिल होने के तरीके तलाशेंगे। ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के साथ गठबंधन किया जाएगा।

बाइडेन ने यह भी घोषणा की कि संयुक्त राज्य अमेरिका नासा के आर्टेमिस कार्यक्रम के हिस्से के रूप में एक जापानी अंतरिक्ष यात्री को चंद्रमा पर ले जाएगा। बाइडेन ने प्रधानमंत्री किशिदा के साथ व्हाइट हाउस के रोज गार्डन में संवाददाता सम्मेलन में कहा, ऐसा पहली बार होगा। इस मौके पर किशिदा ने रूस के खिलाफ युद्ध में जापान के यूक्रेन के लिए मजबूत समर्थन की पुष्टि की। किशिदा ने कहा, यूक्रेन आजकल पूर्वी एशिया हो सकता है।

हिन्दुस्थान समाचार/मुकुंद

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story