भारत ने नेपाल के आग्रह पर बिजली व्यापार समझौते को दी तीन महीने की मंजूरी



काठमांडू, 28 मार्च (हि.स.)। भारत ने नेपाल की तरफ से बिजली व्यापार समझौते को नवीनीकरण करने के लिए किए गए आग्रह पर तीन महीने की स्वीकृति दे दी है। नेपाल-भारत के बीच पांच साल के लिए हुए बिजली आयात समझौता के लिए हर वर्ष नवीनीकरण करना पड़ता है लेकिन इस बार भारत की तरफ से तीन महीने के लिए ही नवीनीकरण किया गया है।

नेपाल विद्युत प्राधिकरण के प्रवक्ता चन्दन घोष ने बताया कि आज ही भारत के एनर्जी एक्सचेंज बोर्ड की तरफ से प्राधिकरण को बताया गया कि तीन महीने के लिए बिजली आयात समझौते की स्वीकृति दे दी गई है। घोष ने यह भी कहा है कि अप्रैल से जून तक भारत की तरफ से नेपाल को 554 मेगावाट बिजली आयात करने की स्वीकृति दी गई है। 500 मेगावाट बिजली का ढल्केबर मुजफ्फरपुर प्रसारण लाइन से आयात किया जाएगा, जबकि बाकी 54 मेगावाट बिजली टनकपुर प्रसारण लाइन से आयात होगी।

नेपाल-भारत के बीच पांच साल के लिए हुए बिजली आयात समझौता के लिए हर वर्ष नवीनीकरण करना पड़ता है लेकिन इस बार भारत की तरफ से तीन महीने के लिए ही नवीनीकरण किया गया है। इस समय भारत से कम से कम 650 मेगावाट बिजली आयात हो रहा है। इसमें भी करीब 100 मेगावाट की बिजली कटौती करते हुए नवीनीकरण किया गया है।

हिन्दुस्थान समाचार/पंकज दास/सुनीत

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story