रूसी सेना में शामिल हुए 300 नेपाली युवाओं से नहीं हो पा रहा संपर्क, परिजन चिंतित



काठमांडू, 12 अप्रैल (हि.स.)। रूसी सेना में शामिल हुए 300 युवाओं से संपर्क नहीं हो पा रहा है। नेपाल से रूसी सेना में काम करने गए युवाओं के परवार वालों के लिए काम करने वाली संस्था ने सरकार को बताया कि अब तक उनके संपर्क में आए 1200 परिवार वालों में से 300 परिवार वाले ऐसे हैं, जिनसे पिछले 6 महीने से कोई संपर्क नहीं हो पाया है।

रूस-यूक्रेन के बीच चल रहे युद्ध में हजारों की संख्या में नेपाली नागरिक रूसी सेना में शामिल हुए हैं। इनमें से कुछ युवाओं के युद्ध के दौरान मारे जाने और कुछ को यूक्रेनी सेना में बंधक बनाए जाने की खबर है। नेपाल सरकार ने भी आधिकारिक रूप से रूसी सेना में नेपाली युवाओं के शामिल होने और उनके मारे जाने की औपचारिक पुष्टि की है लेकिन अब तक नेपाल सरकार एक भी नेपाली युवा का शव लाने में सफल नहीं हो पाई है।

इसी बीच, रूसी सेना में शामिल हुए युवाओं के परिवार वालों के लिए काम करने वाली संस्था जीवन रक्षा अभियान की कृतु भंडारी ने बताया कि पिछले 6 महीने में 1200 ऐसे नेपाली परिवार उनके संपर्क में आए हैं जिनका कोई अपना रूसी सेना में शामिल है। भंडारी ने बताया कि इनमें से करीब 300 परिवार वालों ने बताया कि रूसी सेना में कार्यरत उनके रिश्तेदार ने पिछले 6 महीने से कोई संपर्क नहीं किया है।

भंडारी के मुताबिक सरकार ने अब तक सिर्फ 17 नेपाली युवाओं के मौत की पुष्टि की है, जबकि यह संख्या 100 से अधिक है। सरकार सिर्फ उसी के मौत की पुष्टि कर रही है, जिसका शव मिल रहा है या जिन शवों की पहचान हो रही है।

हिन्दुस्थान समाचार/पंकज दास/सुनीत

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story