अमेरिका में पहली बार दोषी को फांसी देने के लिए नाइट्रोजन गैस का इस्तेमाल

नई दिल्ली, 26 जनवरी (हि.स.)। अमेरिका में पहली बार किसी दोषी को फांसी देने के लिए नाइट्रोजन गैस का इस्तेमाल किया गया। अलबामा राज्य में गुरुवार रात हत्या के दोषी को नाइट्रोजन गैस सुंघाकर मौत की सजा दी गई। वर्ष 1982 में जहरीले इंजेक्शन से मृत्युदंड दिए जाने का प्रावधान करने के बाद से अबतक इसका ही प्रयोग किया जा रहा था। नए तरीके के प्रयोग से एक बार फिर देश में मृत्युदंड को लेकर बहस शुरू हो गई है।

अलबामा की जेल में बंद 58 वर्षीय केनेथ यूजीन स्मिथ को मास्क के माध्यम से नाइट्रोजन गैस दी गई। गैस देते ही उसका शरीर कांपने लगा और उसे सांस लेने में परेशानी होने लगी। तकरीबन 22 मिनट की प्रक्रिया के बाद उसके शरीर में ऐंठन आ गई और 08:25 पर उसे मृत घोषित कर दिया गया। सजा के दौरान स्मिथ के परिजन भी मौजूद रहे।

1988 में स्मिथ ने अपने साथी के साथ एक हजार डॉलर में एक महिला की हत्या कर दी थी। 1996 में उसे हत्या का दोषी करार देते हुए मौत की सजा सुनाई गई थी और 2002 में जहरीले इंजेक्शन के माध्यम से उसे सजा देने की कोशिश की गई थी लेकिन हाथ की नस नहीं मिलने के कारण उसे सजा नहीं दी जा सकी थी।

हिन्दुस्थान समाचार/प्रभात/आकाश

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story