नेपाल : संसदीय जांच समिति के गठन पर सत्तापक्ष और विपक्ष में नहीं बनी बात, संसद में गतिरोध जारी

काठमांडू, 16 मई (हि.स.)। सहकारी घोटाले को लेकर विपक्षी दल की मांग के मुताबिक संसदीय जांच समिति के गठन पर कोई सहमति नहीं बन पाने के कारण गुरुवार को भी संसद में गतिरोध जारी है।

प्रधानमंत्री पुष्पकमल दाहाल प्रचण्ड के प्रयास के बावजूद जांच समिति के गठन पर विपक्षी दलों के अपनी मांगों से पीछे नहीं हटने के कारण सहमति नहीं बन पाई। आज सुबह ही प्रधानमंत्री प्रचण्ड ने सत्तापक्ष के नेता केपी शर्मा ओली और रवि लामिछाने के साथ करीब दो घंटे तक चर्चा करने के बाद यह संकेत दिया था कि आज शाम तक संसद का गतिरोध समाप्त हो जाएगा। इस बैठक के बाद पत्रकारों से बात करते हुए गृहमंत्री लामिछाने ने कहा था कि आज सदन में उन्हें अपना पक्ष रखने देने के लिए विपक्षी दल कांग्रेस तैयार हो गया है। पूर्वाह्न 11 बजे से शुरू होने वाली सदन की बैठक को सहमति जुटाने के नाम पर अपराह्न 4 बजे तक के लिए टाल दिया गया था। हालांकि शाम तक भी कोई सहमति नहीं बन पाई थी।

विपक्षी दल नेपाली कांग्रेस के प्रवक्ता डा पिरकाश शरण महत ने बताया कि संसदीय जांच समिति के गठन के लिए सरकार की तरफ से हमसे एक ड्राफ्ट मांगा गया था। वो ड्राफ्ट हमने भेज भी दिया लेकिन शाम तक भी उस पर सरकार की तरफ से कोई जवाब नहीं मिलने के बाद सदन को नहीं चलने देने के अपने पुराने निर्णय पर पार्टी कायम है। उन्होंने कहा कि समिति गठन को लेकर सरकार की गम्भीरता नहीं दिखने के कारण ही आज भी सदन की कार्रवाई को ठप करने का फैसला लिया गया है।

प्रधानमंत्री की तरफ से नेपाल की कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी) के प्रवक्ता देव गुरुंग ने कहा कि समिति गठन को लेकर प्रचण्ड सकारात्मक हैं। रवि लामिछाने भी यह बात कह रहे हैं कि अगर उन्हें सदन में बोलने दिया गया तो समिति गठन को लेकर उनको कोई आपत्ति नहीं है। इसके बावजूद सत्ता पक्ष के सबसे बड़े घटक दल नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (एमाले) के अध्यक्ष के पी शर्मा ओली समिति गठन के लिए बिलकुल भी तैयार नहीं हैं।

हिन्दुस्थान समाचार/ पंकज दास/दधिबल

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story