रूस के हमले में अबतक 10 हजार यूक्रेनी नागरिकों की मौत, जेलेंस्की का शांति वार्ता से इनकार

-संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार कार्यालय ने जताई चिंता

जेनेवा, 22 नवंबर (हि.स.)। रूसी हमले में अब तक यूक्रेन के 10 हजार नागरिकों की मौत हो चुकी है। हर दिन हो रहे रूसी हमलों के साथ मौत का यह आंकड़ा बढ़ रहा है। यूक्रेन के पूर्वी डोनेट्स्क और खार्कीव क्षेत्र में सोमवार देर रात रूस के मिसाइल हमलों में तीन लोगों की मौत हो गई और आठ घायल हो गए। संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार कार्यालय ने मंगलवार को 10 हजार यूक्रेनी नागरिकों के मारे जाने पर गहरी चिंता जताई।

उल्लेखनीय है कि फरवरी 2022 में रूस ने यूक्रेन पर हमला किया था। रूस-यूक्रेन युद्ध 21वें महीने में प्रवेश कर चुका है। संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार कार्यालय ने कहा कि रूस द्वारा लंबी दूरी की मिसाइलों का प्रयोग करने के कारण आधी मौतें पिछले तीन माह में सीमा से बहुत दूर हुईं। मृतकों में एक तिहाई 60 साल से अधिक उम्र के हैं। हालांकि, मास्को जानबूझकर नागरिकों को निशाना बनाने की बात से इनकार करता रहा है।

इधर, सोमवार को रूस के हमलों से बखमुत का पूर्वी शहर तबाह हो गया। कीव की ओर बढ़ने में असफल होने पर रूस, यूक्रेन के पूर्वी क्षेत्रों पर लगातार हमले कर रहा है। यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने मंगलवार को युद्ध में यूक्रेन की सेना की लगातार बिगड़ती स्थिति के बावजूद मास्को के साथ शांति वार्ता करने से इनकार कर दिया।

रूस के एक अधिकारी ने मंगलवार को कहा कि कीव में वर्तमान शासन के साथ किसी प्रकार की बातचीत संभव नहीं है। यूरोपियन परिषद के अध्यक्ष चार्ल्स मिशेल ने मंगलवार को युद्धग्रस्त कीव का दौरा किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि यूक्रेन लगातार ईयू के करीब आता गया और उसकी प्रगति उल्लेखनीय है। हम रूस के खिलाफ युद्ध में उसका समर्थन जारी रखेंगे।

जर्मनी के रक्षा मंत्री बोरिस पिस्टोरियस ने भी मंगलवार को कीव की अघोषित यात्रा की और रूस के खिलाफ युद्ध जीतने के कीव के प्रयासों का समर्थन जारी रखने की बात दोहराई।

अमेरिका ने सोमवार को यूक्रेन के लिए 10 करोड़ डॉलर के नए सहायता पैकेज की घोषणा की। जेवलिन, एटी-4 लांचर, छोटे हथियार बारूद, स्टिंगर विमान भेदी मिसाइलें आदि भी पैकेज में शामिल हैं। जर्मनी के रक्षा मंत्री बोरिस पिस्टोरियस ने भी यूक्रेन के लिए 142 करोड़ डालर के सैन्य सहायता पैकेज की घोषणा की।

हिन्दुस्थान समाचार/ अजीत तिवारी

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story