बाल्टीमोर में भारतीय चालक दल वाले मालवाहक जहाज के टकराने से पुल गिरा, लोगों की तलाश जारी

बाल्टीमोर में भारतीय चालक दल वाले मालवाहक जहाज के टकराने से पुल गिरा, लोगों की तलाश जारी
बाल्टीमोर में भारतीय चालक दल वाले मालवाहक जहाज के टकराने से पुल गिरा, लोगों की तलाश जारी


बाल्टीमोर, 27 मार्च (हि. स.)। बाल्टीमोर में सोमवार देर रात एक मालवाहक जहाज एक प्रमुख पुल से टकरा गया, जिससे पुल टूटकर नीचे नदी में गिर गया। इसकी वजह से कई वाहन पानी में गिर गए और बचाव दल जीवित बचे लोगों की तलाश कर रहे हैं। जानकारी के मुताबिक टकराने वाले मालवाहक जहाज के चालक दल के सभी 22 सदस्य भारतीय हैं।

यह स्पष्ट नहीं है कि मालवाहक जहाज कैसे फ्रांसिस स्कॉट की पुल से टकरा गया। इस घटना में दो लोगों को बचा लिया गया और यह स्पष्ट नहीं है कि और कितने लोग पानी में गिरे होंगे। जहाज पुल के एक खंभे से टकरा गया, जिससे ढांचा टूटकर कुछ ही सेकंड में पानी में गिर गया। किसी ने इस घटना का एक वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिया। इस दौरान जहाज में आग लग गई और उसमें से काला धुआं निकलने लगा।

बाल्टीमोर के मेयर ब्रैंडन स्कॉट ने इसे एक अकल्पनीय त्रासदी कहा। उन्होंने कहा, आपने कभी नहीं सोचा होगा कि आप इस पुल को धराशाई होते हुए देखेंगे। यह किसी एक्शन फिल्म जैसा लग रहा था। इस बीच न्यूयार्क से मिली खबर के अनुसार पुल से टकराने वाले मालवाहक जहाज के चालक दल के सभी 22 सदस्य भारतीय हैं।

सिंगापुर के झंडे वाला कंटेनर जहाज डीएएलआई स्थानीय समयानुसार रात लगभग।:30 बजे बाल्टीमोर में फ्रांसिस स्कॉट की ब्रिज के एक खंभे से टकरा गया। सिनर्जी मरीन ग्रुप द्वारा प्रदान की गई जहाज की जानकारी के अनुसार, जहाज के चालक दल के कुल 22 सदस्य थे और ये सभी भारतीय हैं।

जहाज का स्वामित्व ग्रेस ओशन प्राइवेट लिमिटेड के पास है और जहाज की आवाजाही बाल्टीमोर से कोलंबो तक थी। जहाज प्रबंधन कंपनी सिनर्जी मरीन ग्रुप ने एक बयान में कहा कि जहाज डीएएलआई के मालिकों और प्रबंधकों ने बताया कि जहाज सोमवार को स्थानीय समयानुसार रात लगभग 01:30 बजे बाल्टीमोर के फ्रांसिस स्कॉट की ब्रिज के एक खंभे से टकरा गया। इसमें कहा गया है कि चालक दल के सभी सदस्यों से एक स्पष्टीकरण मांगा गया है और और किसी के घायल होने की कोई सूचना नहीं है। कोई प्रदूषण भी नहीं हुआ है। घटना का सटीक कारण अभी तक पता नहीं चला है। अमेरिकी तट रक्षक और स्थानीय अधिकारियों को सूचित कर दिया गया है और मालिक और प्रबंधक एक अनुमोदित योजना के तहत संघीय और प्रांतीय सरकार की एजेंसियों के साथ पूरा सहयोग कर रहे हैं।

हिन्दुस्थान समाचार/ अजीत तिवारी/प्रभात

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story