'ट्रंप ने 2016 के चुनाव को 'प्रभावित' करने की कोशिश की'

न्यूयॉर्क, 23 अप्रैल (हि. स.)। अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने 2016 के राष्ट्रपति चुनाव को प्रभावित करने के लिए एक साजिश रची और अपनी निजी जिंदगी की ऐसी जानकारियों को सार्वजनिक होने से रोका जिसका उन्हें चुनाव में नुकसान हो सकता था। यह बात एक अभियोजक ने सोमवार को जूरी के सदस्यों को बताई, जो ट्रंप के खिलाफ एक पोर्न स्टार को गुप्त रूप से धन देने के मामले की सुनवाई कर रही है। बचाव पक्ष के वकील ने दलील दी कि ट्रंप ‘निर्दोष’ हैं और यह मामला सुनवाई योग्य भी नहीं है।

अभियोजक मैथ्यू कोलांगेलो ने जूरी सदस्यों को बताया कि अभियुक्त डोनाल्ड ट्रंप ने 2016 के राष्ट्रपति चुनाव को प्रभावित करने के लिए एक आपराधिक साजिश रची थी। फिर उन्होंने बार-बार झूठ बोलकर अपने न्यूयार्क के व्यवसाय के रिकॉर्ड में उस आपराधिक साजिश को छुपाया। उन्होंने इस मामले के अन्य पहलुओं के बारे में भी बताया जिनमें एक पोर्न अभिनेत्री भी शामिल है। पोर्न अभिनेत्री ने कहा है कि उनके ट्रंप के साथ यौन संबंध थे। अभियोजन ने इसके अलावा उस वकील के बारे में भी बताया जिसने इस बारे में चुप रहने के लिए पोर्न स्टार को धन दिया था।

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति ट्रंप पर व्यापारिक अभिलेखों में हेराफेरी करने के 34 गंभीर आरोप हैं – जिसके लिए चार साल तक की जेल की सजा हो सकती है। उन्होंने कोई भी गलत काम करने से इनकार किया है।

अगर ट्रंप को दोषी भी ठहरा दिया जाए तो यह उन्हें राष्ट्रपति उम्मीदवार बनने से नहीं रोकेगा। इस साल होने वाले राष्ट्रपति चुनाव में ट्रंप रिपब्लकिन पार्टी के संभावित उम्मीदवार हैं। ट्रंप सुबह नौ बजे से कुछ पहले ही अदालत पहुंचे, इसके कुछ ही मिनट बाद उन्होंने सोशल मीडिया पर इस मामले को ‘‘चुनाव में हस्तक्षेप’’ और ‘‘चुनावी षड्यंत्र’’ करार दिया।

ट्रंप द्वारा पॉर्न स्टार स्टॉर्मी डेनियल्स को धन दिए जाने का यह मामला 2016 का है। उस समय ट्रंप के पॉर्न स्टार के साथ संबंध होने की बातें सामने आई थीं और आरोप है कि उन्होंने इसे छिपाने के लिए स्टॉर्मी को एक लाख 30 हजार डॉलर का भुगतान किया था। पूर्व राष्ट्रपति की कंपनी ने यह धन उनके वकील माइकल कोहेन को दिया था जिन्होंने ट्रंप की ओर से पॉर्न स्टार को इसका भुगतान किया। ट्रंप ने डेनियल्स के साथ यौन संबंध होने से इनकार किया है, और उनके वकीलों का तर्क है कि कोहेन को किया गया भुगतान वैध कानूनी खर्च था।

हिन्दुस्थान समाचार/ अजीत तिवारी/प्रभात

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story