अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने चीन, रूस के साथ की भारत और जापान की तुलना, बताया अप्रवासी विरोधी

वाशिंगटन, 02 मई (हि.स.)। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने अपने दो क्वाड भागीदारों भारत और जापान के साथ ही अपने दो विरोधी देशों रूस और चीन को विदेशी (अप्रवासी) विरोधी राष्ट्र बताया है। राष्ट्रपति बाइडन ने जोर देकर कहा कि इनमें से कोई भी देश, संयुक्त राज्य अमेरिका के विपरीत, अप्रवासियों का स्वागत नहीं करता है। यह चुनाव स्वतंत्रता, अमेरिका और लोकतंत्र के बारे में है। इसलिए मुझे आपकी बहुत ज़रूरत है। आप जानते हैं, हमारी अर्थव्यवस्था के बढ़ने का एक कारण आप और कई अन्य हैं। बाइडन ने बुधवार शाम को एक धन जुटाने वाले कार्यक्रम में अपने समर्थकों से यह बात कही।

डेमोक्रेटिक पार्टी के संभावित उम्मीदवार बाइडन ने कहा, चीन आर्थिक रूप से इतना क्यों पिछड़ रहा है, जापान को क्यों परेशानी हो रही है, रूस को और भारत को क्यों परेशानी है क्योंकि वे विदेशी-विरोधी हैं। वे अप्रवासियों को नहीं चाहते हैं।

डेमोक्रेटिक पार्टी के धन जुटाने वाले कार्यक्रम में राष्ट्रपति ने कहा, अप्रवासी ही हमें मजबूत बनाते हैं। यह कोई मज़ाक नहीं है। यह अतिशयोक्ति नहीं है, क्योंकि हमारे पास ऐसे श्रमिकों की आमद है जो यहाँ रहना चाहते हैं और योगदान देना चाहते हैं। भारत और जापान क्वाड के सदस्य हैं, जो एक चार सदस्यीय रणनीतिक सुरक्षा वार्ता जिसमें अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया भी शामिल हैं। पिछले साल बाइडन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की राजकीय यात्रा की मेजबानी की थी, जबकि जापानी प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा पिछले महीने आधिकारिक यात्रा के लिए व्हाइट हाउस आए थे। बाइडन ने विरोधियों और रिपब्लिकन पार्टी से अपनी आव्रजन नीतियों के लिए हमले का सामना कर रहे हैं क्योंकि हर महीने सैकड़ों और हज़ारों अवैध अप्रवासी संयुक्त राज्य अमेरिका में प्रवेश करते हैं। 05 नवंबर के राष्ट्रपति चुनाव में आव्रजन (इमीग्रेशन) एक मुख्य विषय है, जिसमें बाइडन का सामना पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प से होगा, जो रिपब्लिकन पार्टी के संभावित उम्मीदवार हैं। जुलाई में मिल्वौकी में रिपब्लिकन नेशनल कन्वेंशन और अगस्त में शिकागो में डेमोक्रेटिक नेशनल कन्वेंशन में उनके नामांकन की पुष्टि की जाएगी।

हिन्दुस्थान समाचार/अजीत तिवारी/आकाश

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story