अमेरिका के पूर्व विदेश मंत्री का दावा, बालाकोट के बाद छाए थे परमाणु यु्द्ध के बादल



अमेरिका के पूर्व विदेश मंत्री का दावा, बालाकोट के बाद छाए थे परमाणु यु्द्ध के बादल


वाशिंगटन, 25 जनवरी (हि.स.)। अमेरिका के पूर्व विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ का दावा है कि वर्ष 2019 में बालाकोट सर्जिकल स्ट्राइक के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच परमाणु युद्ध के बादल छा गए थे। अपनी नई किताब 'नेवर गिव एन इंच: फाइटिंग फॉर द अमेरिका आई लव' में पोम्पिओ ने इस संकट को टालने के लिए दिन-रात एक कर देने का दावा किया।

59 वर्षीय पूर्व अमेरिकी राजनयिक ने अपनी किताब में लिखा है कि वे 27-28 फरवरी 2019 को अमेरिका-उत्तर कोरिया शिखर सम्मेलन के लिए हनोई में थे। इसी दौरान भारत की तत्कालीन विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने उन्हें बताया था कि पाकिस्तान परमाणु हमले की तैयारी कर रहा है। यह सुनकर वह हैरान हो गए और उनका तनाव तब बढ़ गया, जब सुषमा स्वराज ने कहा कि पाकिस्तान की तैयारी को देखते हुए भारत भी आक्रामक प्रतिक्रिया की तैयारी कर रहा है।

पोम्पिओ के मुताबिक उन्हें नहीं लगता कि दुनिया को फरवरी, 2019 में भारत-पाकिस्तान के बीच तनाव परमाणु हमले के इतने करीब तक पहुंच जाने की जानकारी है। उन्होंने दावा किया कि उनकी टीम ने इस संकट को टालने के लिए भारत और पाकिस्तान के साथ रात भर काम किया था।किताब में दावा किया गया है कि भारत अपने परमाणु हथियारों की तैनाती की तैयारी में था। हमें कुछ घंटों का समय लगा और नई दिल्ली तथा इस्लामाबाद में हमारी टीमों ने बहुत अच्छा काम किया। प्रत्येक पक्ष को समझाया कि वे परमाणु युद्ध की तैयारी न करें। हालांकि, पोम्पिओ के दावों पर भारतीय विदेश मंत्रालय की तरफ से फिलहाल कोई टिप्पणी नहीं की गई है।

हिन्दुस्थान समाचार/संजीव मिश्र

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story