Mauni Amavasya 2024: मौनी अमावस्या पर क्या करें और क्या नहीं, जानें पूजा का सही विधान और महत्व

n

हिंदू धर्म में हर साल माघ महीने की अमावस्या तिथि को मौनी अमावस्या कहते है। इस साल मौनी अमावस्या 9 फरवरी 2024 को है। इस दिन स्नान-दान और धार्मिक कार्यों का महत्व कहीं ज्यादा है। मान्यता है कि ऐसा करने से पुण्य फलों की प्राप्ति होती है और पितरों का आशीर्वाद मिलता है, लेकिन क्या आपको पता है कि इस दिन क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए। आइये जानें 

m

मौनी अमावस्या पर क्या करें
इस दिन विशेष रूप से व्रती लोग मौन व्रत रखते हैं और एकांत में बैठकर मौन रहते हैं। इससे वे अपने मन को शांति और ध्यान की अवस्था में ले जाने का प्रयास करते हैं। 

व्रती लोग भगवान शिव और पर्वती माता की पूजा करते हैं। शिवलिंग की पूजा, बिल्व पत्र का अर्चना, और भगवती पार्वती का स्मरण करना उचित है। 

इस दिन व्रती व्यक्ति अपने मन को शुद्ध करने और आत्मा को अपने साथ संवाद करने के लिए ध्यान और मनन करते हैं। 

मौनी अमावस्या पर दान करना भी अच्छा होता है। ब्राह्मणों, गुरुजनों, यतियों, और गरीबों को दान देना शुभ माना जाता है। 

कुछ लोग इस दिन तीर्थस्थलों की यात्रा करते हैं और पवित्र नदियों में स्नान करने का प्रयास करते हैं। 

n

मौनी अमावस्या पर क्या नहीं करें
मौनी अमावस्या के दिन व्रती लोगों को बहुत बोलना नहीं चाहिए। वे मौन रहकर अपने मन को शांति प्रदान करने का प्रयास करते हैं। 

व्रती लोगों को अनादरपूर्वक बातचीत नहीं करनी चाहिए और धार्मिकता में रहना उचित है। 

मौनी अमावस्या को अशुभ माना जाता है, इसलिए इस दिन किसी भी प्रकार की अशुभ क्रियाएं नहीं करनी चाहिए।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story