Vastu Shastra: किस-किस पौधे की पूजा करने से क्या मिलता है फल, जानें यहां

n

हिंदू धर्म में पूजा-पाठ करने के कई सारे नियम बताए गए हैं, जिन्हें पालन करने से घर और जीवन में सुख समृद्धि आती है। साथ ही जीवन खुशहाल रहता है। वैदिक ज्योतिष शास्त्र में कुछ ऐसे पौधों के बारे में बताया गया है जिसकी पूजा की जाती है। इन पौधों की पूजा करने से शुभ फल की प्राप्ति भी होती है। आज इस खबर में जानेंगे कि घर में कौन-कौन पेड़-पौधे लगाने से क्या-क्या फल की प्राप्ति होती है। आइए विस्तार से जानते हैं।

m

तुलसी का पौधा
हिंदू धर्म में तुलसी का पौधा पूजनीय होता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, घर में तुलसी का पौधा लगाने से घर में सुख-समृद्धि आती है। साथ ही जीवन खुशहाल रहता है।

m

अशोक का पेड़
वास्तु शास्त्र के अनुसार, जो लोग अपने घर में अशोक का पेड़ लगाते हैं, तो घर में शांति बनी रहती है। मानसिक तनाव से मुक्ति मिलती है और शारीरिक बीमारियां दूर होने लगती हैं।

m

आंवला का पेड़
वास्तु शास्त्र के अनुसार, आंवला के पेड़ में भगवान विष्णु का वास होता है जो लोग आंवला का पेड़ घर पर लगाते हैं, वहां धन का प्रवाह होने लगता है। साथ ही घर से नकारात्मक ऊर्जा का नाश होता है।

m

हरश्रृंगार का पौधा
वास्तु शास्त्र के अनुसार, घर में हरसिंगार का पौधा लगाने से नकारात्मक ऊर्जाओं से मुक्ति मिलती हैं। साथ सुख-समृद्धि और शांति की प्राप्ति होती है। मान्यता है कि घर में हरश्रृंगार का पौधा लगाने से मां लक्ष्मी की कृपा होती हैं।

m

अमलतास का पौधा
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, अमलतास का पौधा घर में लगाने से कलह-क्लेश से मुक्ति मिलती है। साथ ही घर में शांति बनी रहती है।

m

करी पत्ता का पौधा
वास्तु शास्त्र के अनुसार, जो लोग अपने घरों में करी पत्ता का पौधा लगाते हैं, उनके घर से नकारात्मक ऊर्जाओं का नाश होता है। साथ ही इसे घर में लगाने से सुख-सौभाग्य की प्राप्ति भी होती है।

m

कैक्टस का पौधा
वास्तु शास्त्र के अनुसार, जो लोग अपने घरों में कैक्टस का पौधा लगाते हैं, उनके घर में अशांति नहीं रहती है। बल्कि सुख-समृद्धि आती है। मान्यता है कि कैक्टस का पौधा लगाने से नकारात्मक ऊर्जाओं से मुक्ति मिलती हैं।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story