इस बुद्ध पूर्णिमा पर बन रहे हैं ये 3 शुभ योग, इन उपायों में से कर लें कोई एक काम, हो जाएगा चमत्कार 

m

बुद्ध पूर्णिमा साल 2024 में 23 मई को है। ऐसा माना जाता है कि, वैशाख मास की पूर्णिमा तिथि को गौतम बुद्ध का जन्म हुआ था। साथ ही इसी दिन भगवान बुद्ध को ज्ञान की भी प्राप्ति हुई थी। बौद्ध और हिंदू धर्म में मान्यता रखने वाले लोगों के लिए यह दिन बेहद पुण्य फलदायी माना गया है। हिंदू धर्म के लोग गौतम बुद्ध को भगवान विष्णु का अवतार मानते हैं। साल 2024 में बुद्ध पूर्णिमा के दिन कई शुभ संयोग बन रहे हैं, इन शुभ संयोगों में आपको क्या कार्य करने से लाभ हो सकता है, आइए इस बारे में विस्तार से जानते हैं। 

m
बुद्ध पूर्णिमा पर बने हैं ये शुभ संयोग

बुद्ध पूर्णिमा 23 मई को है और इस दिन दोपहर 12 बजकर 11 मिनट से अलगे दिन सुबह लगभग 11 बजकर 22 मिनट तक शिव योग रहेगा। इसके साथ ही गुरु, शुक्र और सूर्य इस दिन वृषभ राशि में होंगे जिसके चलते त्रिग्रही योग का निर्माण होगा। गुरु और सूर्य की युति से इस दिन गुरु आदित्य योग भी विद्यमान रहेगा। इन योगों के अलावा गजलक्ष्मी और शुक्रादित्य योग भी इस दिन होगा। इन शुभ योगों में क्या कार्य आपके लिए हितकारी साबित हो सकते हैं। आइए इस बारे में विस्तार से जानते हैं। 

m

बुद्ध पूर्णिमा के ये उपाय दिलाएंगे आपको बड़ी सफलता

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, पूर्णिमा के दिन माता लक्ष्मी पीपल के वृक्ष में निवास करती हैं। ऐसे में अगर आप बुद्ध पूर्णिमा के दिन पीपल के पेड़ के नीचे कुछ मीठा रखते हैं, और साथ ही पीपल के पेड़ की जड़ में जल अर्पित करते हैं तो माता लक्ष्मी की कृपा आप पर बरसती है। इस आसान उपाय को करने से माता लक्ष्मी धन-धान्य से आपकी झोली भर सकती हैं। 

पूर्णिमा के दिन चंद्र पूजा का भी बड़ा महत्व है। इसलिए बुद्ध पूर्णिमा के दिन आपको चंद्रमा को दूध में चीनी और चावल मिलाकर अर्घ्य देना चाहिए। अर्घ्य देते समय आपको 'ऊं एं क्लीं सोमाय नम:' मंत्र का जप करना चाहिए। यह उपाय आपकी आर्थिक समस्याओं को तो दूर करता ही है, साथ ही पारिवारिक जीवन में भी स्थिरता आती है। इस उपाय को करने से आप मानसिक रूप से भी प्रबल होते हैं।

m

धन से जुड़ी समस्याएं अगर आपको बार-बार परेशान करती हैं, धन इक्कठा नहीं हो पाता या आप कर्ज तले दबे हैं तो बुद्ध पूर्णिमा के दिन 11 कौड़ियों से जुड़ा उपाय करें। आपको करना बस इतना है कि माता लक्ष्मी की पूजा में इन 11 कौड़ियों को अर्पित करना है, माता लक्ष्मी को हल्दी का तिलक लगाना है और उसके बाद विधि-विधान से लक्ष्मी पूजा करनी है। लक्ष्मी जी की पूजा के बाद इन कौड़ियों को एक लाल कपड़े में आपको बांध लेना और अपनी तिजोरी में इस कपड़े को रख देना है। माना जाता है कि इस उपाय को करने से धन से जुड़ी हर समस्या का समाधान आपको मिलने लगता है, आपके संचित धन में भी वृद्धि होती है।

 अगर आपकी कुंडली में चंद्रमा की स्थिति ठीक नहीं है, माता के साथ आपके संबंध अच्छे नहीं हैं, पारिवारिक जीवन में कलह है या फिर मानसिक समस्याओं का आप सामना कर रहे हैं तो बुद्ध पूर्णिमा के दिन कम-से-कम 15 मिनट चंद्रमा के प्रकाश में गुजारें, इस दौरान आप अपने इष्ट या भगवान शिव का ध्यान कर सकते हैं। ऐसा करने से आपकी सभी समस्याएं हल हो सकती हैं। 

इस बार बुद्ध पूर्णिमा वाले दिन शिव योग रहेगा। शिव योग में ध्यान और योग करने से आपकी दबी हुई शक्ति जागती है। यूं तो हर पूर्णिमा के दिन ही योग-ध्यान करने से आपको विशेष लाभ प्राप्त होते हैं लेकिन बुद्ध पूर्णिमा के दिन शिव योग में अगर आप योग-ध्यान करते हैं तो आपके विचारों में तेज आ सकता है। साथ ही आपके ज्ञान चक्षु खुल सकते हैं और आप हर क्षेत्र में सफल हो सकते हैं। 

शुक्र का गोचर इन राशियों में बना रहा है लक्ष्मी योग, धन-धान्य से भर जाएगा घर, 12 जून तक मिलेगा भाग्य का पू

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story