Sakat Chauth 2024: कल है सकट चौथ का व्रत, जानें पूजा विधि, मंत्र और चंद्रोदय का शुभ मुहूर्त

n

हिंदू पंचांग के अनुसार, प्रत्येक साल सकट चौथ माघ माह की चौथ तिथि को मनाया जाता है। मान्यता है कि सकट चौथ पर माताएं अपनी संतान की लंबी आयु के लिए निर्जला रहकर व्रत रखती हैं। साथ ही भगवान गणेश की विधि-विधान से पूजा-अर्चना करती है और कथा भी सुनती है। महिलाएं कथा सुनने के बाद रात को चंद्र देव को अर्घ्य देते हैं। उसके बाद ही व्रत खोलती है। मान्यता है कि सकट चौथ का व्रत बड़े ही धूम-धाम से मनाया जाता है। हिंदू पंचांग के अनुसार, इस साल सकट चौथ का व्रत 29 जनवरी 2024 दिन सोमवार यानी कल है।

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, सकट चौथ के दिन भगवान गणेश के साथ भगवान शिव और माता पार्वती की भी पूजा की जाती है। जो जातक सच्चे मन में भगवान गणेश के साथ भगवान शिव और माता पार्वती की पूजा करते हैं, उनकी सारी समस्याएं खत्म हो जाती हैं। चलिए जानते हैं सकट चौथ का शुभ मुहूर्त, पूजा विधि, मंत्र और चंद्रोदय का सही समय क्या है।

m

सकट चौथ के शुभ मुहूर्त
सकट चौथ के दिन भगवान गणेश की पूजा की जाती है। इस बार सकट चौथ 29 जनवरी को है। ऐसे में चतुर्थी तिथि की शुरुआत सुबह के 6 बजकर 10 मिनट से लेकर अगले दिन यानी 30 जनवरी दिन मंगलवार को सुबह 8 बजकर 54 मिनट तक है। इस शुभ मुहूर्त में आप भगवान गणेश की पूजा कर सकते हैं।

सकट चौथ की पूजा विधि
धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, सकट चौथ के दिन प्रातःकाल स्नान करके पूरे दिन उपवास रहकर संकल्प लिया जाता है। इस दिन भगवान गणेश को नए वस्त्र पहनाकर तैयार किया जाता है। साथ ही लाल कपड़ा का आसन दिया जाता है। भगवान गणेश की पूजा में फूल, फल और मिठाइयां अर्पित किया जाता है। साथ ही भगवान गणेश को प्रसन्न करने के लिए गणेश चालीसा और गणेश आरती का पाठ किया जाता है।

m

सकट चौथ पूजा मंत्र
ॐ एकदन्ताय विद्धमहे, वक्रतुण्डाय धीमहि,
तन्नो दंति प्रचोदयात्

सकट चौथ पर अर्घ्य देने का शुभ मुहूर्त
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, सकट चौथ पर चांद को देखकर अर्घ्य दिया जाता है। मान्यता है अर्घ्य देने के साथ ही साथ पूजा भी की जाती है। इस दिन जो महिलाएं हैं वे व्रत रखकर चांद का इंतजार करती है। पंचांग के अनुसार, चंद्रोदय का शुभ मुहूर्त रात्रि के 9 बजकर 10 मिनट पर है। इस शुभ मुहूर्त पर अर्घ्य दे सकते हैं।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्‍वाइन करने के लि‍ये  यहां क्‍लि‍क करें, साथ ही लेटेस्‍ट हि‍न्‍दी खबर और वाराणसी से जुड़ी जानकारी के लि‍ये हमारा ऐप डाउनलोड करने के लि‍ये  यहां क्लिक करें।

Share this story